तेज हुई मराठा आरक्षण आंदोलन की आग, मुंबई में आज से जेल भरो आंदोलन

मुंबई: महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन बढ़ता ही जा रहा है। इस आन्दोलन के दौरान अब तक 6 लोग आत्महत्या कर चुके हैं। वहीँ आठ लोगों ने आत्मदाह करने की कोशिश कर चुके हैं। आज अपनी मांगों को लेकर मराठा समुदाय जेल भरो आन्दोलन करने वाले हैं। वहीं मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि इस आन्दोलन को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

मराठा आरक्षण

अपनी मांगों को लेकर आज मराठा क्रांति मोर्चा ने ही जेल भरो आंदोलन का आह्वान किया है। आंदोलन मुंबई के आजाद मैदान में होगा। आपको बता दें कि मराठा समुदाय महाराष्ट्र में ओबीसी दर्जे की मांग कर रहा है। समुदाय के नेताओं ने मराठाओं को ओबीसी श्रेणी में शामिल किये जाने की शर्त रखी है। नेताओं का कहना है कि अगर बिना ओबीसी श्रेणी में शामिल किए, उन्हें आरक्षण दिया जाता है तो फिर ये मामला अदालती चक्करों में फंस जाएगा। क्योंकि राज्य में आरक्षण की सीमा 50 प्रतिशत के ऊपर होते ही मराठा आरक्षण को कोर्ट में चुनौती दी जा सकेगी। फिलहाल, संवैधानिक व्यवस्था के तहत किसी भी राज्य में 50 फीसदी से ऊपर आरक्षण देना संभव नहीं है।

मराठा नेताओं के मुताबिक, सरकार विधानसभा में प्रस्ताव लाकर मराठा समुदाय को ओबीसी श्रेणी में ला सकती है। लेकिन उनकी नियत ऐसा करने की नही लग रही है। ओबीसी श्रेणी में शामिल कर आरक्षण देने के अलावा मराठा समुदाय ये भी मांग कर रहा है कि एससी/एसटी की तरह उन्हें भी सरकारी नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण दिया जाय। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में मराठा समुदाय की कुल 33 फीसदी आबादी है। इसी आधार पर ये समुदाय को आरक्षित किए जाने की मांग कर रहे है।

कोर्ट ने 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण पर लगाई थी रोक

इसके पहले हाई कोर्ट ने राज्य सरकार के 2014 के नौकरियों और शिक्षण संस्थानों मे 16 प्रतिशत आरक्षण देने के फैसले पर रोक लगा दी थी। कोर्ट ने कहा था कि कुल आरक्षण की सीमा को 50 प्रतिशत से ज़्यादा नहीं बढ़ाया जा सकता। कोर्ट ने यह भी कहा था कि ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला हैं कि मराठा समुदाय आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़ेपन का शिकार है।

 

Related Articles