नाम छिपाकर की शादी तो मिलेगी 10 साल की सजा, यूपी में बना नया कानून

उत्तर प्रदेश में कई दिनों से लव जिहाद की खबरे सामने आने के बाद योगी सरकार ने देश के दूसरे राज्यों की तरह प्रदेश में भी 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून लाने पर मुहर लगा दी है।

लखनऊ: यूपी में कई दिनों से लव जिहाद की खबरे सामने आने के बाद योगी सरकार ने देश के दूसरे राज्यों की तरह प्रदेश में भी ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून लाने पर मुहर लगा दी है। योगी सरकार की अध्यक्षता में आज मंगलवार को हुई इस मंत्रिमंडल बैठक में विवाह के लिए अवैध धर्मांतरण रोधी कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि सीएम योगी की राज्य मंत्रिमंडल बैठक में शादी के लिए धोखाधड़ी कर धर्मांतरण किए जाने की घटनाओं को रोकथाम हेतु कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

ये भी पढ़े : यूपी: सात जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित 13 चिकित्सा अधिकारियों के तबादले

कैबिनेट में प्रस्ताव पास होने के बाद इस अध्यादेश में नाम छिपाकर शादी करने वाले को 10 साल की सजा का प्रावधान है। इसके अलावा गैरकानूनी तरीके से धर्म परिवर्तन पर एक से 10 साल तक की सजा होगी। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि 15 हजार तक का जुर्माना भी देना पड़ सकता है। इसके अलावा सामूहिक रूप से गैरकानूनी तरीके से धर्म परिवर्तन करने पर जहां 10 साल तक सजा हो सकती है, वहीं 50 हजार तक जुर्माना भी देना पड़ सकता है। अगर कोई भी ग्रुप धर्म परिवर्तन कराता है तो उसे 3 से 10 साल की सजा होगी।

 

 

Related Articles

Back to top button