आतंकी मसूद अजहर ने लाहौर में रची पठानकोट हमले की साजिश

masood
मसूद अजहर

नई दिल्ली। पठानकोट हमले की साजिश जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के सरगना और कुख्यात आतंकी मसूद अजहर ने रची थी। मसूद के अलावा उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर, अशफाक अहमद और कासिम जान भी इस हमले की साजिश में पूरी तरह से शामिल थे। इनमें से असगर वही आतंकी है जिसने 1999 में एयर इंडिया के आईसी- 814 विमान को हाईजैक करवाकर अपने भाई मसूद को रिहा करवाया था। पठानकोट हमले में मारे गए आतंकियों को निर्देश देने वाले इन सभी चार हैंडलर्स की पहचान भारतीय ख़ुफ़िया और सुरक्षा एजेंसियों ने करके यह खुलासा किया है।

यह भी पढ़ें – पठानकोट पर पाकिस्‍तान को एक्‍शन लेना ही होगा : अमेरिका

 
लाहौर के मरकाज में रची गई साजिश
भारतीय एजेंसियों का दावा है कि हमले की साजिश लाहौर के पास मरकाज में रची गई। भारत ने इन चारों हैंडलर्स के बारे में उचित चैनल के माध्यम से पाकिस्तान को जानकारी देते हुए कड़ी कार्रवाई का दबाव बनाया है। भारत ने आतंकियों को गिरफ्तार कर उसे सौंपने की मांग की है ताकि भारतीय एजेंसियां उनसे पूछताछ कर सकें। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने अपने पाक समकक्ष नासिर खान जांजुआ को आतंकियों के मोबाइल लोकेशन की जानकारी दी है।
कौन है कमांडर साहब
गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक आतंकियों का संबंध बहावलपुर, सियालकोट और सरकौदा से है। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को जांच आगे बढ़ाने के लिए पाक से सहयोग की दरकार है। आतंकियों ने एक शख्स को कमांडर साहिब कहकर संबोधित किया थ्‍ाा। उसके बारे में भी एजेंसियां खोजबीन कर रही हैं।
गुनाहगारों पर कार्रवाई करे पाक तभी बातचीत संभव
भारत और पाकिस्तान के बीच 15 जनवरी को प्रस्तावित विदेश सचिव स्तर की वार्ता के भविष्य संबंधी सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने स्पष्ट किया कि अगर पाक गुनहगारों के खिलाफ कार्रवाई करेगा, तभी बातचीत होगी। उसे ही भविष्य का रास्ता तय करना है। उन्होंने कहा कि भारत की पाकिस्तान सहित सभी पड़ोसी देशों के लिए नीति स्पष्ट है। हम पड़ोसी देशों से मित्रता चाहते हैं, मगर इसके लिए किसी भी कीमत पर आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button