किर्गिस्तान में विपक्ष नेता और कार्यकर्ताओं की सामूहिक wiretapping का हुआ खुलासा

बिश्केक : किर्गिस्तान में एक विपक्षी राजनेता ने शिकायत करते हुए कहा की पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं और कई अहम विपक्षी हस्तियों की  पुलिस द्वारा गैरकानूनी तरीके से wiretapping की जा रही है।

wiretapping को अदालत ने दी थी मंज़ूरी : सरकार

इस कड़ी में लिबरल झुकाव वाले रिफॉर्मा पार्टी के नेता क्लारा सोरोनकुलोवा ने बयान जारी कर को कहा कि अपराधियों और आतंकवादियों की निगरानी में यूज़ होने वाली तकनीक का इस्तेमाल सरकार अपने आलोचकों के लिए कर रही है जो की देश के भविष्य के लिए अच्छी खबर नहीं है। इस के बाद देश की होम मिनिस्ट्री ने एक बयान को जारी कर कहा की अक्टूबर में उजागर हुई देश को हिला देने वाली इस वायरटैपिंग को मिनिस्ट्री नेअदालतों से मंजूरी मिलने के बाद अंजाम दिया था। इस लिए यह पूरी तरह से वैध है। इस कड़ी में मिनिस्ट्री के बयान के मुताबिक अदालत की इजाज़त के बाद उन मंत्रियों और अधिकारीयों की वायरटैपिंग की गई थी जिन पर कोई न कोई मुकदमा दर्ज है।

वायरटैपिंग की सूची में संसद सदस्य दास्तान बेकेशेव और कान्यबेक इमानलीयेव, सोशल-डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता, तेमिरलान सुल्तानबेकोव, विपक्षी राजनेता रावशन जीनबेकोव और पूर्व राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार कुर्सन आसनोव और अब्दिल सेगिज़बायेव तक शामिल हैं। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें यह सभी जापारोव के शासन के आलोचक रहे हैं।

यह भी पढ़ें : निया शर्मा ने सोशल मीडिया पर लगाई आग, एक दिन बाकी दो घूंट से बुझाई प्यास

 

 

 

 

Related Articles