भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (IISER) में लगी भीषण आग

भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (IISER) में दोपहर को लगी भीषण आग, जांच में जुटे अधिकारी

मुंबई: महाराष्ट्र के पुणे (Pune) में भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (IISER) में दोपहर को अचानक भीषण आग लग गई, जिसके बाद दमकल की 4 गाड़ियां आग पर काबू करने के लिए भेजी गईं। आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। इस मामले में अधिकारी जानकारी मालूम करने में जुटे हुए है।

भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (IISER), पुणे 2006 में स्थापित एक स्वायत्त सार्वजनिक अनुसंधान विश्वविद्यालय है। यह 7 भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थानों में से एक है, और आईआईएसईआर के साथ स्थापित होने वाले पहले IISER में से एक था।आईआईएसईआर पुणे एकीकृत मास्टर कार्यक्रम (BS-MS), एक एकीकृत डॉक्टरेट कार्यक्रम (इंट पीएचडी) और एक डॉक्टरेट कार्यक्रम (PHD) प्रदान करता है। मास्टर डिग्री में प्रवेश IISER संयुक्त प्रवेश प्रक्रिया के माध्यम से होता है जो प्रवेश के लिए तीन चैनल प्रदान करता है।

भारत का प्रमुख विज्ञान संस्थान

IISER भारत के प्रमुख विज्ञान संस्थान हैं। यह संस्थान कोलकाता, पुणे, मोहाली, भोपाल एवं तिरुवनंतपुरम में स्थित हैं। इन संस्थानों की स्थापना भारत में विज्ञान अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए की गई है। यह संस्थान भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा प्रायोजित हैं। प्रत्येक IISER को पहले 5 वर्षों के वित्तीय परिव्यय के लिए 500 करोड़ रुपयों का आवंटन किया गया है।

फिलहाल, सभी आई.आई.एस.ई.आर. अस्थाई परिसरों से संचालित हो रहे हैं। कोलकाता परिसर आई. आई. टी. खड़गपुर के कोलकाता परिसर से, पुणे परिसर राष्ट्रीय रसायन प्रयोगशाला से संलग्न परिसर से, मोहाली परिसर महात्मा गांधी लोक प्रशासन संस्थान चंडीगढ़ से, भोपाल परिसर आई. टी.आई. राहत गैस बिल्डिंग से एवं तिरुवनंतपुरम परिसर अभियांत्रिकी महाविद्यालय त्रिवेंद्रम से संचालित हो रहे हैं।

यह भी पढ़े: 14 साल की 2.26 मीटर लंबी चीनी Basketball Girl ने किया सबको हैरान, देखें Video

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles