माटीकला प्रदर्शनी अब तक की गई 14.18 लाख रुपये की बिक्री: सहगल

राज्य के अपर मुख्य सचिव एवं महाप्रबन्धक, माटीकला बोर्ड, डा0 नवनीत सहगल ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पारम्परिक कला से जुड़े कुशल कारीगरों एवं शिल्पकारों को इस तरह के मंच प्रदान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित माटीकला प्रदर्शनी में आज 5.26 लाख रुपये की बिक्री हुई और अब तक की कुल बिक्री 14.18 लाख रुपये की बिक्री हुई.

राज्य के अपर मुख्य सचिव एवं महाप्रबन्धक, माटीकला बोर्ड, डा0 नवनीत सहगल ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पारम्परिक कला से जुड़े कुशल कारीगरों एवं शिल्पकारों को इस तरह के मंच प्रदान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है. इससे न सिर्फ उनकी कला को प्रोत्साहन मिल रहा है बल्कि उनकी आमदनी के साथ ही उनका उत्साहवर्धन भी हो रहा है. उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी में आज की बिक्री लगभग 5.26 लाख रुपये रही है, जबकि अब तक की कुल बिक्री लगभग 14.18 लाख रुपये हो चुकी है.

बता दे कि लखनऊ में खादी भवन में माटी कला बोर्ड द्वारा 04 से 13 नवम्बर तक माटीकला प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है. दीपावली के शुभ अवसर पर चलने वाली माटीकला प्रदर्शनी में मिट्टी से निर्मित एक से बढ़ कर एक नायाब उत्पादों की विस्तृत श्रंखला मौजूद है. जैसे-जैसे दीपावली का पर्व नजदीक आता जा रहा है, लोगो द्वारा मिट्टी से निर्मित डिजाइनर दीये, गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियाॅ, खिलौने, कुल्हड़ व अन्य उत्पादो की खूब खरीदारी की जा रही है.

प्रदर्शनी में आजमगढ़ की ब्लैकपाॅटरी, खुर्जा के मिट्टी निर्मित कुकर तथा कढ़ाई, लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियां, डिजाइनर दीये, गोरखपुर का टेराकोटा उत्पाद, पानी की बोतल आदि लोगो द्वारा खूब पसन्द किये जा रहे है. मिटटी के विभिन्न उत्पादों एवं कलाकृतियों के प्रति लोगो की माॅग बढ़ने से मेले में आये शिल्पकारों में खास उत्साह है.

यह भी पढ़े: नैतिक, धान्या और आर्य वीर का टर्फ यूथ कप में शानदार प्रदर्शन

Related Articles

Back to top button