पुणे : मदरसे में मौलवी कर रहा था बच्चों का यौन शोषण, गिरफ्तार

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में पुलिस ने एक मदरसे के मौलवी को बच्चों के साथ यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने रहीम नाम के 21 वर्षीय मौलवी को गत 27 जुलाई को गिरफ्तार किया है। यहाँ के रहने वाले दो बच्चों का आरोप है कि वो इस माहौल से डरकर भाग गए थे। उन्होंने पुलिस को बताया कि संसथान में आने वाले मौलवियों में से एक, दूसरे सहवासी के साथ यौन दुर्व्यवहार करता था। पुलिस की यह कार्रवाई बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ यामिनी आदबे की शिकायत के बाद हुई।

पुणे

पुणे के कटराज कोंधावा इलाके में स्थित इस मदरसे से पुलिस ने 36 बच्चों को बचाया। इन बच्चों की उम्र 5 से 15 साल के बीच है। मिली जानकारी के मुताबिक,पुणे रेलवे स्टेशन पर रेलवे पुलिस फोर्स ने दो बच्चों को अकेले खड़ा देखा। बच्चे घबराए हुए थे। बच्चों को ऐसे घबराए और अकेला देख आरपीएफ को उनपर शक हुआ।

इसके तुरंत बाद आरपीएफ ने बच्चों के लिए काम करने वाली एक संस्था को सूचित किया। पुलिस टीम ने बच्चों के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं के साथ जामिया अमूबुझा दारूल यात्मा पर छापा मारा। उसके बाद मौलवी को गिरफ्तार किया गया और बच्चों को बचाया गया। भारती विद्यापीठ पुलिस स्टेशन ने मौलाना रहीम की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

पुलिस ने मौलाना के खिलाफ जुवेनाइल जस्टिस और पोक्सो कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया है। वहीँ मदरसे से दो भागे हुए बच्चों को एनजीओ ने बाल कल्याण समिति भेज दिया। इन बच्चों के आरोप के बाद पुलिस ने इस कार्रवाई की अंजाम दिया है। बिहार के भागलपुर जिले के रहने वाले ये बच्चे कुछ दिन पहले ही मदरसे में आये थे। लेकिन वहां के हालत देखते हुए वो 23 जुलाई को वहां से भाग गये थे।

एनजीओ ने दोनों बच्चों की काउंसिलिंग की। तब बच्चों ने मदरसे में चल रहे गंदे खेल का राजफाश किया। बच्चों ने बताया की मदरसे का मौलवी इन बच्चों से कपडे खुलवाता और उनसे अपने निजी अंग छूने को कहता। पुलिस अब मामले की जाँच में जुट गई है।

 

Related Articles