धर्म परिवर्तन के आरोप में मौलाना उमर गौतम का बेटा गिरफ्तार, ये भी लगे आरोप

लखनऊ: यूपी एटीएस टीम को रविवार को बड़ी सफलता हाथ लगी है। टीम ने नोएडा से मौलाना उमर गौतम के बेटे अब्दुल्ला को गैरकानूनी धर्म परिवर्तन के आरोप में गिरफ्तार किया है। एटीएस के अनुसार, अब्दुल्ला ही धर्मांतरण करने वालों को फंडिंग कर रहा था। सभी आरोपी विदेश से चंदा लेकर भारत में बड़े स्तर पर धर्मांतरण कराने का काम कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश के आतंकवाद विरोधी दस्ते ने गौतम को इससे पहले उसके साथी के साथ कथित तौर पर एक राष्ट्रव्यापी धर्मांतरण रैकेट का हिस्सा होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस मामले में अब तक 20 से ज्‍यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मिली जानकारी के अनुसार, अब्दुल्ला उमर गौतम के मदरसा और मस्जिद के अलावा अन्य काम देखता था। यूपी एटीएस को उमर गौतम के साथ अब्दुल्ला के अकाउंट में भी फंडिंग के सबूत मिले हैं। ऐसी जानकारी है कि अब्दुल्ला के बैंक अकाउंट में करीब 75 लाख रुपए की फंडिंग की गई है। कुल फंडिंग के पैसों में से 17 लाख विदेशी फंडिंग से भेजे गए थे। हालांकि, यूपी पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है।

श्याम प्रताप सिंह गौतम कैसे बन गया मौलाना

बता दें कि इस्लाम धर्म अपनाने से पहले फतेहपुर का रहने वाला उमर गौतम राजपूत परिवार से संबंध रखता था, जोकि पहले श्याम प्रताप सिंह गौतम था। इस्लाम धर्म अपनाने के बाद श्याम से मौलाना उमर गौतम बन गया। पढ़ाई के दौरान श्याम प्रताप की दोस्ती बिजनौर के नासिर खान से हुई थी। नासिर के बहकावे में आकर साल 1984 में श्याम प्रताप सिंह गौतम ने इस्लाम धर्म अपना लिया है।

Related Articles