रंगीन Holi में भरे Mawa Malpua की मिठास, देखें स्वादिष्ट Recipe

होली (Holi) वैसे तो रंगो का त्योहार है, लेकिन मीठे के बिना इस त्योहार का मजा अधूरा रहता है। त्योहार आने से पहले ही मन में कई तरह के पकवान चलने लगते है।

नई दिल्ली: होली (Holi) वैसे तो रंगो का त्योहार है, लेकिन मीठे के बिना इस त्योहार का मजा अधूरा रहता है। त्योहार आने से पहले ही मन में कई तरह के पकवान चलने लगते है। होली खासतौर से पकवानों का त्योहार माना जाता है। जिससे त्योहार के मजे और भी बढ़ जाते हैं।

इस दिन घर आने वाले मेहमानों को लोग मीठा खिलाते हैं और रंग लगाते हैं। ऐसे में होली आने में अब बहुत कम दिन बाकी हैं। इस मौके पर अगर आप भी कुछ मीठा बनाने की सोच रहे हैं तो हम आज आपके लिए मावा मालपुआ की रेसिपी (Mawa Malpua Recipe) को शेयर करेंगे। आपको बता दें, मालपुआ दो तरह से बनाए जाते है। एक चाशनी वाले दूसरा बीना चाशनी के।

बिहार, उत्तरप्रदेश, झारखंड, बंगाल में चाशनी वाले मालपुआ कम बनाए जाते है लेकिन छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश में चाशनी वाले मालपुआ ज्यादा सर्व किए जाते है। आइए देखते है चार से पांच सदस्यों के लिए मालपूवा की रेसेपी इसे बनाने के लिए 100 ग्राम खोया, 150 ग्राम मैदा, 100 ग्राम कच्चा दूध, 2 चम्मच इलायची, 1 कटोरी चीनी, 1 कटोरी मिक्स मेवे जैसे काजू, किसमीश, चीरौनजी, बादाम, 4-5 केला, 1 चम्मच सौंफ

Holi पर बनाए मावा मालपुआ

सबसे पहले मैदा को छलनी से छान लें इसके बाद खोया को को कद्दूकस कर लें। गैस पर एक बर्तन को गर्म कर लें। कद्दूकस किए हुए मावा को गर्म पैन में डालें और अच्छे से भूनें। इसे लगातार चलाते रहे वरना मेवा जल जाएगा। इसमें अब दूध मिलाएं और अच्छे से पकाएं। जब मावा दूध में घुल जाए तो इसे ठंडा होने के लिए रख दें।

अब एक दूसरा बर्तन लें और उसमें दूध और मैदा को मिक्स करें। दूध और मैदा के घोल को आधे घंटे तक अलग छोड़ दीजिए। एक कटोरी चीनी पानी में डालकर इसकी चाशनी तैयार कीजिए। चाशनी को तैयार करते वक्त ध्यान रहें कि ये ज्यादा गाढ़ी न हो जाए। चाशनी में इलायची पाउडर, मेवा और केला को मिक्स कीजिए। केला को अच्छे तरीके से मिलाइए। चाशनी तैयार करने के बाद मालपुआ बनाइए।

यह भी पढ़े

एक कड़ाही में तेल या घी गर्म करने के लिए रखें। मालपुआ का घोल तैयार है। इसके बाद एक कटोरी की मदद से मालपुआ के आकार का घोल कड़ाही में डालें और डीप फ्राई करते हुए निकालें। इसके बाद इसे चाशनी में डुबाएं। इसके बाद कम से कम 2 घंटे के लिए मालपुआ को इसी चाशनी में छोड़ दे। फिर आपका मालपुआ सर्व होने को तैयार है।

Related Articles

Back to top button