माया का मिशन ब्राह्मण: खुशी दुबे का केस लड़ेंगे सतीश मिश्रा

आप को बता दें खुशी दुबे बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के शूटर रहे अमर दुबे की पत्नी है। अमर दुबे को यूपी एसटीएफ ने हमीरपुर में एक मुठभेड़ में गोली मार दी थी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों में सियासी हलचल तेज़ हो गयी है। इसी क्रम में बसपा प्रमुख मायावती (BSP Supremo Mayawati) भी 23 जुलाई से ब्राह्मण समुदाय को जोड़ने के लिए अयोध्या से ब्राह्मण सम्मेलन का आगाज करने जा रही है। इस अभियान को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र (Satish Chandra Mishra ) संभालेंगे। वहीं अब सतीश मिश्रा बिकरू कांड में 1 साल से बंद खुशी दुबे का केस लड़ने जा रहे हैं। इस कांड के बाद ब्राह्मणों में भाजपा सरकार के खिलाफ नाराजगी बढ़ गई थी।

आप को बता दें खुशी दुबे बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के शूटर रहे अमर दुबे की पत्नी है। अमर दुबे को यूपी एसटीएफ ने हमीरपुर में एक मुठभेड़ में गोली मार दी थी। गौरतलब है कि बिकरु कांड के 9 दिन पहले ही खुशी दुबे की शादी हुई थी। खुशी एक साल से जेल में बंद है। खुशी के अलावा जो भी पीड़ित लोग हैं। उन सबको भी बसपा कानूनी सहायता देगी।

इस बात की जानकारी बसपा नेता नकुल दुबे ने दी है। बता दें कि 23 जुलाई को होने वाले ब्राह्मण सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए नकुल दुबे अयोध्या पहुंचे थे। वहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वरिष्ठ वकील और बसपा महासचिव सतीश मिश्रा (BSP General Secretary Satish Mishra) खुशी का केस लड़ेंगे और उसकी रिहाई की मांग करेंगे।

यह भी पढ़ें: सलमान खान की Tiger 3 का वीडियो वायरल, बॉडी देख उड़ जाएंगे होश

 

Related Articles