मायावती (Mayawati) ने की सरकार से ‘कृषि कानून’ को वापिस लेने की मांग

बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती ने केन्द्र सरकार से बोला है कि नये कृषि कानूनों को वापस लेने की किसानों की मांग को स्वीकार करें सरकार

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग आज फिर दोहराई और कहा कि कल किसानों और सरकार के बीच वार्ता का असफल होना चिंता की बात है।

मायावती का ट्वीट

मायावती ने ट्वीट में कहा कि काफी समय से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों और केन्द्र सरकार के बीच वार्ता कल एक बार फिर नाकाम रही जो अति चिंता की बात है। केन्द्र सरकार से पुन: अनुरोध है कि नये कृषि कानूनों को वापस लेने की किसानों की मांग को स्वीकार करके इस समस्या का समाधान निकाले।

यह भी पढ़ेयोगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का बड़ा ऐलान, बेटियों के जन्मदिन मनाने के साथ देंगे तोहफा

क्या है ‘कृषि कानून’ बिल

‘कृषि कानून’ बिल का मुख्य उद्देश्य किसानों को उनकी फसल की निश्चित दाम दिलवाना है। इसके तहत कोई भी किसान फसल उगाने से पहले ही किसी व्यापारी से समझौता कर सकता है। इस समझौते में फसल की कीमत, फसल की गुणवत्ता और कितनी मात्रा में और कैसे खाद का इस्तेमाल आदि बातें इस बिल में शामिल होती हैं।

यह भी पढ़ेIRCTC 31 जनवरी से चलाएगी आस्था सर्किट ( Astha circuit ) विशेष ट्रेन

Related Articles