मायावती ने अमित शाह को दिया करारा जवाब, बोलीं- मोदी व शाह के नेतृत्व में गिर गया है बीजेपी का स्तर

लखनऊ। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा विपक्षी पार्टियों को लेकर दिए गए बयान का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। शाह के बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने उन्हें करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि देश की जनता जानना चाहती है कि क्या ऐसी घोर असभ्यता व बदजुबानी देश की सत्ताधारी पार्टी को शोभा देती है। उन्होंने कहा कि सत्ता के अहंकार में बीजेपी देश की जनता को मूर्खों की जमात समझने की भूल कर रही है। उन्होंने कहा कि गुरु(नरेंद्र मोदी) व शिष्य (अमित शाह) के नेतृत्व में बीजेपी का स्तर गिर चुका है।

संघी भाषा बोल रहे हैं शाह
अमित शाह द्वारा विपक्षी पार्टियों की तुलना कुत्ते, बिल्लियों से करने वाले बयान को लेकर मायावती ने कहा है वो आपत्तिजनक संघी भाषा बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूपी के उपचुनावों में हार का मुंह देखने के बाद भी बीजेपी नेता अपराधी मानसिकता व संघी चाल के आगे मजबूर नजर आ रहे हैं। जनता उन्हें बार-बार ठोकरें मार रही है, मगर वो हीनभावना वाली संघी भाषा बोलने को मजबूर हैं।

मायावती ने बीजेपी के खिलाफ हमला बोलते हुए कहा कि अमित शाह व नरेंद्र मोदी के अहंकारी, गरीब विरोधी व हठधर्मी रवैये के कारण ही आज वह केंद्र में अकेली पड़ चुकी है। उसके सहयोगी ही उससे दामन छुड़ाने को बेताब हैं, साथ ही उसके खिलाफ बगावत का झंडा लेकर खड़े हो गए हैं। मायावती ने कहा कि संसद के दोनों सदनों में नरेन्द्र मोदी सरकार अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने को तैयार नहीं हुई जबकि लोकसभा में तो उसे बहुमत प्राप्त है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव राजग की घटक रही तेलुगु देशम पार्टी ने ही पेश किया था।

जानिए क्या कहा था अमित शाह ने
बीजेपी की 38वीं स्थापना दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के एक कार्यक्रम में शाह ने विपक्षी दलों को लेकर बयान दिया था कि 2019 के लिए उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। विपक्षी एकजुटता की कोशिश हो रही है। जब भारी बाढ़ आती तो सब कुछ बह जाता है। केवल एक वटवृक्ष बचता है और बढ़ते पानी से खुद को बचाने के लिए सांप, नेवला, कुत्ते, बिल्लियां और अन्य जानवर साथ आ जाते हैं। उन्होंने कहा कि इसी तरह मोदी की बाढ़ में सब साथ आ गए हैं।

Related Articles