मायावती ने उठाया ईवीएम पर सवाल, 2019 का लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग

0

सहारनपुरनगर निकाय चुनाव में जहाँ बीजेपी ने बहुमत के साथ मेयर की 14 सीटों पर कब्ज़ा किया है वहीं दूसरी अन्य पार्टियों को पछाड़ते हुए बीएसपी ने बीजेपी को कड़ी टक्कर दी है।

बीएसपी ने भी दो मेयर पदों पर कब्ज़ा जमाया है। लेकिन इस बीच ईवीएम पर फिर सवाल उठे। नगर निगम चुनाव में एक पार्षद प्रत्याशी को मिले जीरो वोट के बाद ईवीएम की शिकायत की गयी है। इसी कड़ी में मायावती ने उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में ईवीएम से गड़बड़ी कराने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि 2014 में ईवीम में गड़बड़ी कर के भाजपा को केंद्र की सत्ता मिली थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश विधानसभा चुनाव में 2017 में पूर्ण बहुमत से बीएसपी की सरकार बननी थी लेकिन ईवीएम मे छेडखानी कर दी गई। बीजेपी बीएसपी को खत्म करना चाहती है। निकाय चुनाव मे हम दूसरे नम्बर पर है। मेरठ व अलीगढ़ इसके उदाहरण है।

अखिलेश यादव के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि हम अपनी पार्टी की बात करते हैं। अगर आपको समजवादी पार्टी के बारे में पूछना है तो अखिलेश यादव से पूछो। साथ ही उन्होंने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव वैलेट पेपर से कराने की मांग की है।

आपको बता दें कि सहारनपुर के एक प्रत्याशी ने भी ईवीएम पर आरोप लगाया है। उसका कहना है कि उसने परिवार सहित वोट डाला था। वह इवीएम में जीरो कैसे हो गया। मामले की शिकायत डीएम से की गई है। शुक्रवार को यूपी नगर निकाय चुनाव की मतगणना की जा रही है। इस मतगणना के दौरान सहारनपुर के नूरबस्ती की निर्दलीय उम्मीदवार शबाना को 0 वोट मिले। जब उन्हें इस बात की जानकारी मिली तो, उन्होंने ईवीएम मशीन पर सवाल उठाना शुरू कर दिया।

अब ये सवाल उठाना लाजमी है कि ऐसा कैसे हो सकता है? मीडिया के समक्ष भी प्रत्याशी के पति इकराम ने इवीएम पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ वह निर्वाचन आयोग में शिकायत करेंगे। यदि न्याय नहीं मिला तो न्यायालय की शरण भी लेंगे। प्रत्याशी का कहना है कि वो इसके लिए कोर्ट में जायेगे।

loading...
शेयर करें