मायावती ने कहा- BJP वालों के लटके चेहरे बता रहे हैं 23 को इनके बुरे दिन आएंगे

0

लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन बसपा प्रमुख मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मिर्ज़ापुर में चुनावी सभा को संबोधित किया. रैली में मायावती के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे, उन्होंने कहा कि बीजेपी वालों के ढीले-लटके चेहरे बता रहे हैं कि ये चुनाव हार चुके हैं. 23 मई के बाद पीएम मोदी के साथ-साथ उनके चेलों के भी बुरे दिन शुरू हो जाएंगे.

मायावती ने कहा कि हमें केंद्र में अगर सरकार बनाने का मौका मिलता है तो वह गरीबों को 6000 नहीं, बल्कि पक्की नौकरी देंगे. उन्होंने कहा कि 6 चरण के चुनाव में पूरे यूपी में अखिलेश यादव ने मेहनत की है और हमें इस बार बड़ी जीत मिल रही है.

मायावती ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अगर आप चाहते हैं कि केंद्र में हम अपनी सरकार बनाएं तो गठबंधन की हर सीट को जिताना जरूरी है. यहां पर सपा का उम्मीदवार है लेकिन आप समझिए कि बसपा ही चुनाव लड़ रही है. उन्होंने कहा कि इसबार का चरण महागठबंधन के लिए और भी बेहतर होने वाला है, बीजेपी घबरा गई है. इनकी नींद उड़ गई है.

उन्होंने कहा कि 23 मई को जब केंद्र में मोदी की सरकार जाएगी, तो यूपी में योगी मठ में जाने की तैयारी शुरू कर देंगे. उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि गठबंधन के मामले में फूट डालो, राज करो की नीति नहीं चलेगी. हमारा महामिलावटी नहीं, सामाजिक गठबंधन है. जब तक बीजेपी को सत्ता से नहीं निकालेंगे, तबतक गठबंधन चुप नहीं बैठेगा.

अखिलेश भी रहे बीजेपी पर हमलावर

मायावती के बाद अखिलेश यादव ने भी मंच से बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. अखिलेश ने कहा कि हमारे बाद आज कोई भी समर्थन मांगने नहीं आएगा, इसलिए गठबंधन के लिए वोट करना. उन्होंने कहा कि आजतक अच्छे दिन नहीं आए, लोग काफी दिनों से इस दिन का इंतजार कर रहे थे अबकी बार हर कोई वोट से अपना जवाब देगा.

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी वालों ने देश को धोखा दिया है, नोटबंदी करके इन्होंने गरीबों को चोट पहुंचाई. सपा प्रमुख ने यहां पर तेजबहादुर के मुद्दे पर भी बीजेपी पर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि अभी बुलेट ट्रेन नहीं बल्कि बुलेट प्रूफ जैकेट चाहिए.

सपा प्रमुख ने कहा कि 5 साल में चाय अच्छी नहीं बनी तो चौकीदार बनकर वोट मांग रहे हैं, लेकिन इस बार जनता इनकी चौकी छीन लेगी. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सिर्फ एक फीसदी लोगों के ही प्रधानमंत्री हैं, ये सिर्फ नफरत की राजनीति कर रहे हैं. हम लोग इस बार नया प्रधानमंत्री बनाएंगे, सिर्फ 6 दिन बाद ही देश को नया PM मिलने वाला है. ये वाला चुनाव देश को बचाने का चुनाव है.

loading...
शेयर करें