मायावती ने बना लिया है बीजेपी को हराने का मास्टर प्लान, अब यूपी में चिंघाड़ेगा हाथी

0

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में हुए लगातार दो विधानसभा चुनावों में करारी हार का सामना करने वाले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती अब उत्तर प्रदेश में अपना खोया वर्चस्व वापस पाने की कवायद में जुट गई है। बीते दिनों राज्यसभा से इस्तीफा देकर इसका पहला कदम भी बढ़ा दिया है। अब उन्होंने यूपी की जनता के बीच जाकर उनसे रूबरू होने का प्लान बनाया है। मायावती ने फैसला किया है कि वह मायावती 18 सितंबर 2017 से 18 जून 2018 तक यूपी दौरे का कार्यक्रम बनाया है।

दरअसल, मायावती ने यूपी में अपने खोए अस्तित्व को दोबारा पाने का मास्टर स्टोक प्लान बनाया है। अपने इस प्लान के तहत वो अब हर महीने 18 तारीख को दो मंडलों में रैली करेंगी। साथ ही वह उस इलाके के अहम नेता और कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी करेंगी।

मायावती अपने इस योजना की शुरुआत मेरठ-सहारनपुर से करने जा रही है। जून 2018 के बाद के बाद की योजना अभी भी तिरोजी में बंद है। मायावती अपने कार्यक्रम की योजना विधानसभा क्षेत्र के हिसाब से ही बनाएंगी।

इस बात की जानकारी देते हुए मायावती ने कहा कि 18 तारीख इसलिए चुनी क्योंकि 18 जुलाई को मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दिया था। कार्यकर्ता वो दिन भूलना नहीं चाहते। बीजेपी का पर्दाफाश करूंगी। बीजेपी जातिवादी, पूंजीवादी, दलित विरोधी पार्टी है। बीजेपी को चैन से बैठने नहीं दूंगी। यूपी के अलावा देशभर में बीजेपी के तानाशाही रवैये और दलित विरोधी नीति का देशभर में पर्दाफाश करूंगी। देशभर में बीजेपी को चैन से नहीं बैठने दूंगी।

मायावती ने यह फैसला दिल्ली में आयोजित हुई उस बैठक में लिया जिसमें पार्टी के सांसद, विधायकों और पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया था।

अपनी इस योजना के माध्यम से मायावती प्रदेश में खोई ताकत को दोबारा पाने की फिराक में हैं। साथ ही वो एक बार फिर दलित समाज को एकजुट करना चाह रही हैं जिससे उनकी ताकत में इजाफा हो। मायावती का यह प्लान वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में चलते बनाया गया है।

loading...
शेयर करें