मायावती ने सीएम योगी के 4.5 साल के रिपोर्ट कार्ड को बताया फेल, जनता हो रही परेशान

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने रविवार को बढ़ती गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई समेत लोगों की तकलीफों का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। बसपा सुप्रीमो ने कहा, “यूपी बीजेपी सरकार के विज्ञापन और 4.5 साल के बदलाव के दावे जमीनी हकीकत से हैं। उनकी बातों या कामों में अंतर के कारण लोग बढ़ती गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई का खामियाजा भुगत रहे हैं।”

बसपा प्रमुख ने इससे पहले 15 सितंबर को राज्य में सड़कों की दयनीय स्थिति को लेकर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार को फटकार लगाई थी। उन्होंने राज्य सरकार का यह दावा करते हुए लताड़ा था कि गड्ढों से भरी सड़कें सरकार की विफलता का जीता-जागता उदाहरण हैं।

बसपा सुप्रीमो का ट्वीट

मायावती ने ट्वीट करके लिखा कि यू.पी. भाजपा सरकार द्वारा ’बदलाव के 4.5 वर्ष’ का विज्ञापन व दावे अधिकांश हवा-हवाई व जमीनी हकीकत से बहुत दूर। इनकी कथनी व करनी में अन्तर होने के कारण ख़ासकर यहाँ की बढ़ती ग़रीबी, बेरोज़गारी व महंगाई आदि से जनता की बदहाली जग-ज़ाहिर।

विपक्षी संगठनों ने लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश में विपक्षी संगठनों ने रविवार को आरोप लगाया कि राज्य में भाजपा के साढ़े चार साल के शासन में गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई बढ़ी है। उन्होंने दावा किया कि योगी सरकार द्वारा जारी किया गया रिपोर्ट कार्ड सभी गैसों में अपनी उपलब्धियों को उजागर करता है और ‘झूठ से भरा’ था।

सीएम योगी ने जारी किया रिपोर्ट कार्ड

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने 4.5 साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड जारी किया और कहा कि राज्य 2017 से दंगा मुक्त रहा है, जबकि शासन ने कल्याणकारी योजना के साथ अतीत से पूर्ण परिवर्तन देखा है, जो अब राज्य के योग्य और वंचितों तक पहुंच रहा है। व्यवसायों को निष्पादित करने में आसानी में नंबर दो के रूप में उभर रहा है।

Related Articles