मायावती का बड़ा ऐलान, जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव BSP नहीं लड़ेगी, ये है वजह

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बताया कि BSP ने इस समय प्रदेश में हो रहे जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को न लड़ने का निर्णय लिया है

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (BSP) की प्रमुख मायावती (Mayawati) आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ा ऐलान किया है। बसपा ने इस समय प्रदेश में हो रहे जिला पंचायत अध्यक्ष (Zilla Panchayat President) के चुनाव को न लड़ने का निर्णय लिया है।

बसपा अध्यक्ष मायावती ने बताया कि बसपा ने इस समय प्रदेश में हो रहे जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को न लड़ने का निर्णय लिया है। पार्टी के लोगों को निर्देश है कि वे इस चुनाव में अपना समय और ताकत लगाने की बजाय पार्टी के संगठन को मजबूत बनाने और सर्व समाज में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने में लगाएं।

मायावती ने बोला कि इस बार उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बन सकेगी। जब यहां बसपा की सरकार बन जाएगी तो जिला पंचायत अध्यक्ष खुद ही बसपा में शामिल हो जाएंगे।

विधानसभा चुनाव

मायावती ने 27 जून को यह भी बताया था कि पंजाब को छोड़कर, यूपी और उत्तराखण्ड प्रदेश में अगले वर्ष के प्रारंभ में होने वाला विधानसभा का यह आमचुनाव बीएसपी किसी भी पार्टी के साथ कोई भी गठबन्धन करके नहीं लड़ेगी अर्थात् अकेले ही लड़ेगी। इसके साथ ही मायावती ने यह भी साफ करते हुए बताया था कि  उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा आमचुनाव AIMIM व बीएसपी मिलकर लड़ेगी। यह खबर पूर्णत गलत, भ्रामक व तथ्यहीन है। मीडिया से भी यह अपील है कि वे बहुजन समाज पार्टी व पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष आदि के संबंध में इस किस्म की भ्रमित करने वाली अन्य कोई भी गलत खबर लिखने, दिखाने व छापने से पहले एस.सी. मिश्र से उस सम्बंध में सही जानकारी जरूर प्राप्त कर लें।

यह भी पढ़ेपूर्व प्रधानमंत्री PV Narasimha Rao की 100वीं जयंती पर जानिए 1991 का राजनीतिक इतिहास

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles