सपा से गठबंधन पर मायावती का बड़ा ऐलान, 2019 में अकेले लड़ेंगी चुनाव!

0

लखनऊ। हाल ही में बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी संविधान में बड़े बदलाव किए है। बदलाव के मुताबिक पार्टी में जो भी राष्ट्रीय अध्यक्ष होगा उसका कोई भी रिश्तेदार किसी विशेष पद पर नहीं होगा। यह घोषणा शनिवार को की गई। बसपा सुप्रीमो ने यह भी कहा कि कार्यकर्ता एक साधारण व्यक्ति की तरह काम करेगा। साथ ही मायावती ने पार्टी संगठन में कुछ परिवर्तन भी किए। जिसमें पार्टी में पहली बार नेशनल कोआर्डिनेटर की नियुक्ति की गई है।

इसी के साथ मायावती ने एक बयान भी दिया उन्होंने कहा कि अब वह किसी भी पार्टी के साथ किसी भी चुनाव में तब गठबंधन करेंगी जब उन्हें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी, नहीं तो वह अकेले ही चुनाव लड़ना पसंद करेंगी। आगे उन्होंने कहा कि हालांकि इस बात को लेकर यूपी सहित कई राज्यों में गठबंधन को लेकर बात चल रही है, लेकिन हमें अकेले भी खुद को तैयार करना होगा। आगामी 20-22 सालों तक वह खुद ही मुखिया बनकर पार्टी को चलाना चाहेंगी इसीलिए उन्होंने सचेत करते हुए यह भी कहा कि कोई और पार्टी का मुखिया बनने का सपना न देखे।

बता दें पार्टी में पहली नेशनल कोर्डिनेटर की नियुक्ति की गई है। पहले चरण में दो नेशनल कोआर्डिनेटर वीर सिंह एडवोकेट व जयप्रकाश सिंह को नियु​क्त किया गया है। वहीं उत्तर प्रदेश में आरएस कुशवाहा,निवर्तमान अध्यक्ष राम अचल राजभर को राष्ट्रीय महासचिवलालजी वर्मा छत्तीसगढ़ के कोआर्डिनेटर, अशोक सिद्धार्थ को दक्षिण भारत के साथ तीन राज्यों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

loading...
शेयर करें