कश्मीर में फारूख अब्दुल्ला के घर धारा 370 और 35A की बहाली को लेकर हुई बैठक

इस मीटिंग में कई अहम विषयों पर चर्चा हुई है। पीपल्स एलाइंस फॉर गुप्कार डिक्लेरेशन का गठन जम्मू कश्मीर में धारा 370 और 351 के हटाए जाने के विरोध में किया गया है।

श्रीनगर:  शनिवार सुबह कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर फारूख अबदुल्ला के घर पीपल्स एलाइंस फॉर गुप्कार डिक्लेरेशन की बैठक हुई। पूर्व मुख्यमंत्री के घर हुई बैठक में गुप्कार समूह के सभी दलों ने भाग लिया।

धारा 370 और 35A का बहाली पर बातचीत

फारूख अबदुल्ला के जम्मू स्थित घर पर हुई बैठक में धारा 370 और 35A की बहाली के ऊपर बातचीत हुई। इस मीटिंग में कई अहम विषयों पर चर्चा हुई है। पीपल्स एलाइंस फॉर गुप्कार डिक्लेरेशन का गठन जम्मू कश्मीर में धारा 370 और 351 के हटाए जाने के विरोध में किया गया है।

गुप्कार एलाइंस कश्मीर के साथ जम्मू और लद्दाख की बात कर रहा

सीपीआईएम के पूर्व विधायक रह चुके मोहम्मद यूसुफ तरीगमी इस बैठक में भाग लेने पहुंचे। मीडिया से हुई बातचीत में यूसुफ तरीगमी ने बताया कि गुप्कार डिक्लेरेशन की हुई यह बैठक इस लिए भी महत्वपूर्ण है क्युंकि सभी दल के नेता न केवल कश्मीर की बात कर रहे हैं बल्कि वो जम्मू, कश्मीर और लद्दाख की भी बात कर रहे हैं।

जिला परिषद चुनाव में नही लेंगे कोई भी दल भाग

जम्मू कश्मीर में 28 नवंबर से पहली बार प्रदेश में जिला विकास परिषद के चुनाव की घोषणा हुई है। जम्मू कश्मीर सरकार की तरफ से की गई इस घोषणा का वहां की स्थानीय पार्टियां विरोध कर रही हैं। माना यह भी जा रहा है कि यह सारी पार्टियां होने वाले जिला परिषद चुनाव में भाग नही लेंगी।

बजरंग दल और कश्मीर एकजुट ने बैठक का किया विरोध

वहीं दूसरी तरफ बजरंग दल और कश्मीर एकजुट ने पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अबदुल्ला के घर से कुछ ही दूरी पर इस बैठक का विरोध किया। उनका कहना है कि इस एलाइंस की पहली ही बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के बयान से यह साफ हो गया था कि यह एलाइंस राष्ट्रविरोधी है।

देश विरोधी दलों को जम्मू में नही किया जाएगा बर्दाश्त

प्रदर्शनकारियों के मुताबिक महबूबा मुफ्ती ने एलाइंस के पहले ही बैठक में तिरंगे के विरोध में टिप्पणी की थी जो कि देश विरोध में है। अपने बयान से उन्होनें यह स्पषट कर दिया था कि गुप्कार एक देश विरोधी एलाइंस है। तिरंगे का अपमान करने वाले दलों को जम्मू में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़े : प्रकाश जावड़ेकर ने किया पुणे में ‘पहला बायोगैस संयंत्र’ का उद्घाटन, मल जलने की समस्या से मिलेगी निजात

Related Articles