ईरान और UN के बीच memory card इंस्टालेशन को लेकर हुई सहमति

तेहरान : ईरान और संयुक्त राष्ट्र की परमाणु एजेंसी आखिरकार रविवार को परमाणु समझौते से जुड़े संकट को टालने के लिए एक समझौते पर पहुंचे। इस कड़ी में तेहरान, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के इंस्पेक्टर्स को अपने परमाणु स्थलों पर निगरानी कैमरों में नए memory card  डालने करने और रिकॉर्डिंग जारी रखने की अनुमति देने के लिए सहमत हो गया है।

memory card  तो डाल सकते हैं, लेकिन फुटेज नहीं मिलेगी

इस कड़ी में तेहरान टाइम्स की खबर के मुताबिक, यह घोषणा आईएईए के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी और ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन (एईओआई) के प्रमुख के बीच तेहरान में हुई बैठक के बाद हुई।  “आईएईए के निरीक्षकों को पहचान किए गए उपकरणों की सेवा करने और उनके स्टोरेज मीडिया को बदलने की अनुमति है जिसे ईरान के इस्लामी गणराज्य में संयुक्त आईएईए और एईओआई मुहरों के तहत रखा जाएगा।

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें 2015 में, अमेरिका, रूस, चीन, जर्मनी, ब्रिटेन और फ्रांस ने ईरान के साथ एक समझौता किया, जिसे संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPoA) के रूप में जाना जाता है। लेकिन डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन 2018 में अमेरिका को इस सौदे से हटा लिया था और ईरान पर अपने “अधिकतम दबाव” अभियान के एक हिस्से के रूप में एकतरफा प्रतिबंध लगा दिया था।

यह भी पढ़ें : महिलाएं विश्वविद्यालय freedom से में पढ़ सकती हैं, कोई बंदिश नहीं : तालिबान

Related Articles