मुख्यमंत्री से मिले सम्मान पर मेधावी गदगद, योगी ने किया नीट परीक्षा की मेधावीयों को सम्मानित

लखनऊ: नीट परीक्षा में पूर्णांक हासिल कर देश में द्वितीय स्थान हासिल करने वाली कुशीनगर की मेधावी छात्रा आकांक्षा सिंह को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया और उसके उज्जवल भविष्य की कामना की।

आकांक्षा और उसका परिवार बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में मेहमान बन कर पहुंचा था। योगी ने उत्तर प्रदेश का नाम देश में राेशन करने वाली छात्रा, उसके माता पिता और छोटे भाई का इस्तकबाल गर्मजोशी से किया। उन्होने आकांक्षा और उनके छोटे भाई अमृतांश को टैबलेट तथा माता-पिता को शॉल देकर सम्मानित किया।

बालिकाएं भी बालकों से कम नहीं

उन्होने घोषणा की प्रदेश सरकार आकांक्षा की एमबीबीएस की पढ़ाई का पूरा खर्च उठायेगी और छात्रा के गांव को जोड़ने वाली सड़क का नाम उसके नाम पर होगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि अति पिछड़े जिले से होने के बावजूद आकांक्षा ने सफलता का जो कीर्तिमान रचा है, वह उनकी मेहनत, लगन और जुनून का सबूत है।

साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे बच्चों के लिये प्रेरणा का श्रोत है। बहू-बेटियों के सम्मान, सशक्तिकरण और स्वावलंबन के लिए सरकार की मिशन शक्ति योजना का आकांक्षा रोल माडल है।योगी ने कहा कि मेधावी छात्रा ने साबित कर दिया है कि अगर इरादे बुलंद हो तो कठिन परिश्रम के बूते मनचाही मंजिल पायी जा सकता है।

आकांक्षा बालिकाओं के लिए रोल मॉडल हैं और उन परिवारों के लिए भी जो बालिकाओं को पढ़ाने में कोताही बरतते हैं। थोड़ा भी हम ध्यान दे दें तो बालिकाएं भी बालकों से कम नहीं हैं।

शक्ति अभियान के लिए मुख्यमंत्री को आभार

इस मौके पर मुख्य सचिव आर के तिवारी और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी भी मौजूद थे। श्री योगी ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया कि आकांक्षा की यूजी कोर्स की पूरी पीस और हॉस्टल के खर्चे का पूरा विवरण परिवार से लेकर उसका एक मुश्त भुगतान कर दिया जाए, ताकि बाद में परिवार को भटकना न पड़े।

मुख्यमंत्री से मिले सम्मान से गदगद मेधावी ने कहा कि उसके लिये यह लम्हा जीवन का सपना पूरा होने जैसा है। छात्रा ने नारी सशक्तीकरण को लेकर शुरू किए गए मिशन शक्ति अभियान के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें: सड़कों को गड्ढामुक्त करने का अभियान युद्ध स्तर पर: लाेनिवि

Related Articles

Back to top button