‘Metro Man’ ई श्रीधरन BJP में होंगे शामिल, जानें कौन हैं ‘मेट्रो मैन’?

'मेट्रो मैन' ई श्रीधरन भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगे, ई श्रीधरन भारत के एक प्रख्यात सिविल इंजीनियर हैं। वे 1995 से 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे हैं

तिरुवनंतपुरम: ‘मेट्रो मैन’ ई श्रीधरन (‘Metro Man’ E Sreedharan) भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होंगे। वो केरल भाजपा प्रमुख के.सुरेंद्रन की अगुवाई में 21 फरवरी से होने वाली पार्टी की विजय यात्रा में पार्टी में शामिल होंगे।

कौन हैं ‘मेट्रो मैन’

ई श्रीधरन (E Sreedharan) भारत के एक प्रख्यात सिविल इंजीनियर हैं। वे 1995 से 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे हैं। उन्हें भारत के ‘मेट्रो मैन’ के रूप में जाना जाता है। भारत सरकार ने उन्हें 2001 में पद्म श्री तथा 2008 में पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया।

ई श्रीधरन ने बहुत कम समय के भीतर दिल्ली मेट्रो के निर्माण का कार्य किसी सपने की तरह बेहद कुशलता और श्रेष्ठता के साथ पूरा कर दिखाया है। देश के अन्य कई शहरों में भी मेट्रो सेवा शुरु करने की तैयारी है, जिसमें श्रीधरन की मेधा, योजना और कार्यप्रणाली ही मुख्य निर्धारक कारक होंगे।

यह भी पढ़ेIND vs ENG: England के खिलाफ बाकी दो मैचों के लिए टीम का ऐलान, इस धुरंधर की हुई वापसी

केरलवासी श्रीधरन की कार्यशैली की सबसे बड़ी खासियत है एक निश्चित योजना के तहत निर्धारित समय सीमा के भीतर काम को पूरा कर दिखाना। समय के बिलकुल पाबंद श्रीधरन की इसी कार्यशैली ने भारत में सार्वजनिक परिवहन को चेहरा ही बदल दिया। 1963 में रामेश्वरम और तमिलनाडु को आपस में जोड़ने वाला पम्बन पुल टूट गया था। रेलवे ने उसके पुननिर्माण के लिए छह महीन का लक्ष्य तय किया, लेकिन उस क्षेत्र के इंजार्च ने यह अवधि तीन महीने कर दी और जिम्मेदारी श्रीधरन को सौंपी गई। श्रीधरन ने मात्र 45 दिनों के भीतर काम करके दिखा दिया।

भारत की पहली मेट्रो सेवा

भारत की पहली मेट्रो सेवा कोलकाता मेट्रो की योजना भी ‘मेट्रो मैन’ ई श्रीधरन की देन है। आधुनिकता के पहियों पर भारत को चलाने के लिए सबकी उम्मीदें श्रीधरन पर टिकी है। इसलिए तो सरकार ने उत्कृष्ट कार्यों को देखते हुए पद्श्री और पद्म भूषण सम्मानों से सम्मानित किया।

यह भी पढ़ेRail Roko Andolan: कार्यकर्ताओं ने पटना में रोकी रेल, स्टेशन पर सुरक्षाबल तैनात

Related Articles

Back to top button