21 साल की उम्र में जया किशोरी के लाखों फॉलोअर्स

0

हमारे समाज में आज भी बहुत सी लड़कियों को पढ़ाई करने की अनुमति नहीं मिलती है। और कुछ पढ़ाई – लिखाई के बाद शादी करके घर संभालती है, लेकिन अपने मन की आवाज सुनकर इस परंपरा को तोड़ने वाला कोई एक ही होता है। ऐसी ही एक 21 साल की लड़की है, जिसने इतनी कम उम्र में साध्वी बनने का फैसला लिया और आज उसके लाखों भक्त है।बता दे कि भारत में बाबाओं को भले ही बहुत सम्मान दिया जाता है लेकिन किसी लड़की का साध्वी बनना लोगों को गंवारा नहीं होता है क्योंकि उनकी नजरों में लड़की का काम शादी करके बच्चे पैदा करना, अपने परिवार का ख्याल रखना है। लेकिन इस लड़की ने इतनी कम उम्र में अपने दिल की बात सुनी और वही काम चुना, जिसमें उसे खुशी मिलती है।

हम बात कर रहे हैं राजस्थान की जया किशोरी की। राजस्थान के सुजानगढ़ में एक बाह्रामण परिवार में जन्मी जया किशोरी कृष्ण की भक्त है। इनका जन्म 1996 में हुआ। बचपन से ही पूजा – पाठ करने वाली जया का झुकाव श्रीकृष्ण की तरफ था। जब जया 9 साल की थी, तभी से वह संस्कृत में लिंगाष्टकम्, शिव-तांडव स्तोत्रम्, रामाष्टकम् आदि स्तोत्र गा लेती थीं। 10 साल की हुईं तो अकेले सुंदर कांड का पाठ किया। तभी से लोगों का ध्यान जया की ओर आया लेकिन जया की पढ़ाई चलती रही। वो कोलकाता के महादेवी बिड़ला वर्ल्ड एकेडमी से पढ़ी हैं।

फेसबुक पर भी जया के पेज पर लगभग 8 लाख लाइक हैं और साढ़े 8 लाख लोग उन्हें फॉलो करते हैं। अच्छी बात ये हैं कि जया के सत्संग से जो भी पैसा इकट्ठा होता है, उसे नारायण सेवा ट्रस्ट, उदयपुर को दान कर दिया जाता है। इस दान से ट्रस्ट विकलांगों की मदद करता है।

loading...
शेयर करें