अयोध्या में राम मंदिर के दानपात्र से हुआ करोड़ो का घोटाला, शिकायत पर मचा हड़कंप!

अयोध्या। जहां एक तरफ देशभर में घोटाले हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर इन घोटालों के दायरे में अब भगवान भी आने लगे है। घोटालेबाज़ो ने आम जनता के साथ साथ भगवान को भी नहीं बख्शा। मामला है रामलला की जन्मभूमि अयोध्या का जहां रातों रात दान पात्र से करोड़ो के जेवरात गायब कर दिए गए। घटना की जानकारी मिलते ही वहां के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने त्वरित शिकायत दर्ज कराई है।

मामले की शिकायत पुलिस को मिलते ही तुरंत जांच शुरु कर दी है। शिकायत दर्ज कराते हुए मुख्य आचार्य ने रिसीवर मंडल कार्यालय में तैनात बसंत लाल मौर्या पर गंभीर आरोप लगाया है। आरोप लगाते हुए कहा है कि दानपात्र में मौजूद लाखों करोड़ो के जेवर गायब हुए हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि आभूषणों की जानकारी लिखित में न रखकर कार्यालय में तैनात अधिकारी ने अपने निजी उपयोग में ले लिया जिसके बाद वह करोड़पति बन गया। इन आरोपों पर मंडलायुक्त मनोज मिश्रा का कहना है कि लगाए गए सारे आरोप गलत है। दानपात्र के पास सीसीटीवी कैमरा लगे हैं जिनमें किसी भी तरह की कार्यालय में हुई गड़बड़ी को कैद नहीं किया जा सका है।

मिली जानकारी के मुताबिक हर साल रामलला को करोड़ो रुपए दान में मिलता है लेकिन वह सारा पैसा सिर्फ बैंको में जमा हो जाता है। किसी उत्सव, पूजा या किसी अन्य कार्यक्रम के लिए उपलब्ध नहीं कराया जाता है। आगे पुजारी ने कहा कि इससे पहले भी उन्होंने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करी लेकिन उस पर कभी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसीलिए इस बार उन्होंने योगी आदित्यनाथ से इस बात की शिकायत की है। जिसके बाद उन्होंने दानपात्र घोटाले की जांच की मांग की है।

Related Articles