शिक्षा (Education) राज्यमंत्री (State Minister) ने कहा, ‘शिक्षकों के ट्रांसफर (Transfer) को लेकर बनेगी नई नीति’

शिक्षा राज्यमंत्री ने कहा कि शिक्षकों के स्थानांतरण के बनाई जाने वाली नई नीति को लेकर शिक्षक संगठनों से चर्चा कर उनके सुझाव लिए जाएंगे।

भोपाल: मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इन्दर सिंह परमार ने कहा है कि शिक्षकों के तबादले के लिए नई नीति तैयार की जाएगी। इन्दर सिंह परमार ने मंत्रालय में स्कूल शिक्षा विभाग की ‘आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश’ क्रियान्वयन की कार्य योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि शिक्षकों के स्थानांतरण के बनाई जाने वाली नई नीति को लेकर शिक्षक संगठनों से चर्चा कर उनके सुझाव लिए जाएंगे। यह नीति प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों में शिक्षकों की उपलब्धता और शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

इस मौके पर उन्होंने विभाग की ‘आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश’ क्रियान्वयन की कार्य योजना के लक्ष्यों को निर्धारित समय सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि CM राइज स्कूलों को चिन्हित करने कि प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाए। इन स्कूलों में स्टेम शिक्षा को बढ़ावा देने और उसके क्रियान्वयन के लिए तकनीकी शिक्षा विभाग से समन्वय किया जाए। छात्रों के मूल्यांकन, शिक्षकों के प्रदर्शन के आंकलन के लिए IT आधारित तृतीय पक्ष मूल्यांकन पद्धति अपनाई जाए।

उन्होंने कहा कि चयनित स्कूलों में कौशल आधारित व्यावसायिक पाठ्यक्रम संचालित कर कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों को स्थानीय कुशल कारीगर, कलाकार, शिल्पी आदि हुनरमंद व्यक्तियों से स्थानीय कलाएं हाथ करघा, पेंटिंग, शिल्प आदि विद्या सिखाई जाए। इसके साथ ही शिक्षकों के सतत व्यवसायिक विकास के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और प्रौद्योगिकी का लाभ उठाते हुए शिक्षकों के प्रशिक्षण की नीति तैयार करें। इसके मूल्यांकन करने के लिए एक मजबूत शिक्षक मूल्यांकन प्रणाली तैयार करें। शिक्षक मूल्यांकन प्रणाली अच्छे प्रदर्शन को पहचानने, प्रोत्साहित करने और उनके समग्र प्रदर्शन में सुधार करने में सहायता करेगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना ( Corona ) के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस देश में लगा लॉकडाउन ( Lockdown )

Related Articles