मंत्री का दखल, वापस हुआ शिक्षा विभाग का तुगलकी फरमान

0

jld-c2799822-largeलखनऊ। यूपी के बेसिक शिक्षा विभाग के एक तुगलकी फरमान का जब विरोध होना शुरू हुआ तो बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन को दखन देना पड़ा। यह तुगलकी फरमान भी लड़कियों के लिए था। इस फरमान में बेसिक शिक्षा विभाग ने कहा था कि बेटियां हाॅकी, क्रिकेट और फुटबाल नहीं खेल सकती हैं।

मंत्री ने कहा वापस होगा आदेश

बुधवार को दोपहर यूपी के बेसिक शिक्षा ‌मंत्री अहमद हसन ने एक बयान में इस तरह के आदेश को वापस लेने की बात कही। बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन ने कहा है कि यूपी की समाजवादी सरकार में लैंगिक भेदभाव की कोई जगह नहीं है। सरकार ने कभी बेटा और बेटी में कोई भेदभाव नहीं किया। ऐसा कोई आदेश शिक्षा विभाग ने जारी किया है तो उसे वापस लिया जाएगा।
उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले भी शिक्षा विभाग ने खेल प्रतियोगिताओं के लिए जो कार्यक्रम जारी किया था। इसमें साफ था कि हॉकी, क्रिकेट और फुटबॉल प्रतियोगिताएं सिर्फ छात्रों के लिए होगी, छात्राएं इन खेलों में हिस्सा नहीं ले सकेंगी। कई महिला संगठनों ने इसका विरोध किया था।

loading...
शेयर करें