विदेश मंत्रालय: विदेशी राजनयिकों को पुणे की यात्रा कराएगी सरकार

विदेश मंत्रालय देश में स्थित राजनयिक मिशनों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों को पुणे की यात्रा कराएगा जहां वे कोविड-19 संबंधी अनुसंधान एवं टीका विकास

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय देश में स्थित राजनयिक मिशनों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों को पुणे की यात्रा कराएगा जहां वे कोविड-19 संबंधी अनुसंधान एवं टीका विकास कार्यक्रम से जुड़े संस्थानों का भ्रमण कर सकेंगे। विदेश मंत्रालय ने आज यहां राजनयिक मिशनों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों को कोविड-19 संबंधी मुद्दों पर जानकारियां साझा करने के लिए एक संवाद सत्र का आयोजन किया जिसमें 190 से अधिक राजनयिकों ने भाग लिया।

आज की ब्रीफिंग में विदेश सचिव हर्षवर्द्धन शृंगला के अलावा नीति आयोग के सदस्य डॉ. विनोद कुमार पॉल, केन्द्र सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. के विजय राघवन, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, जैवप्रौद्योगिकी विभाग की सचिव डॉ. रेणु स्वरूप, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रो. आशुतोष शर्मा, वैज्ञानिक एवं औद्याेगिक अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. शेखर मांडे तथा इलैक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में ई-शासन विभाग के प्रमुख अभिषेक सिंह ने भाग लिया।

ये भी पढ़े : महाराष्ट्र: अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर विधान परिषद के लिए नामित

बैठक में भारत के कोविड-19 प्रबंधन, कोविड के टीके के विकास कार्यक्रम, सॉफ्टवेयर एवं टीका वितरण प्रणाली तथा अंतरराष्ट्रीय सहयोग के मुद्दों पर जानकारी दी गयी। यह भी बताया गया कि विदेश मंत्रालय राजनयिक मिशनों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों को पुणे की यात्रा कराएगा जहां वे कोविड-19 संबंधी अनुसंधान एवं टीका विकास कार्यक्रम से जुड़े संस्थानों का भ्रमण कर सकेंगे।

ये भी पढ़े : पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर, एक ने किया आत्मसमर्पण

विदेश मंत्रालय ने यहां बताया कि इससे पहले कोविड के टीके के विकास में प्रगति, उसके चिकित्सकीय परीक्षण को लेकर प्रशिक्षण शिविर आयोजित किये गये जिनमें आठ देशों के 9

Related Articles

Back to top button