धूम्रपान के खिलाफ स्वास्थ्य मंत्रालय का अभियान शुरू, लोगों को जागरुक करेगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक कार्यक्रम में धूम्रपान की लत छोड़ने को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान ‘व्हॉट डैमेज विल दिस सिगरेट/बीड़ी डू’ लांच किया। यह संदेश धूम्रपान करने वाले लोगों को यह सोचने के लिए प्रेरित करेगा कि सिगरेट या बीड़ी से कई संभावित हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं, जिसमें हार्ट अटैक, कैंसर, फेफड़े का कैंसर जैसी बीमारियां शामिल हैं। ‘वाइटल स्ट्रेटजीज’ ने इस अभियान को विकसित करने और इसे लागू करने मंे तकनीकी मदद प्रदान की है।

वाइटल स्ट्रेटजीज की ग्लोबल पॉलिसी और रिसर्च की उपाध्यक्ष डॉ. नंदिता मुरूकुतला ने कहा, “हम स्वास्थ्य मंत्रालय को ऐसे सशक्त अभियान को लांच करने की बधाई देते हैं। हाल ही में ग्लोबल एडल्ट टोबैको के अनुसार फिलहाल 90 फीसदी से ज्यादा धूम्रपान करने वाले व्यस्क धूम्रपान के नुकसान और उनके साथ खड़े लोगों को धुएं से होने वाली बीमारियों के बारे में जागरूक है।”

उन्होंने कहा, “इस अभियान मंे ग्राफ की मदद से धूम्रपान करने के विशेष और प्रमाणित नुकसान को दिखाया है और यह देखकर लोग सोचने पर मजबूर होंगे कि धूम्रपान छोड़ना उनकी सेहत के लिए फायदेमंद है। हम स्वास्थ्य मंत्रालय के इन अभियानों के साथ जुड़कर बेहद खुश हैं।”

इस अभियान के माध्यम से धूम्रपान करने वालों को इस लत को छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया गया है और धूम्रपान छोड़ने वाले लोग नेशनल क्विट लाइन (1800-11-2356) पर कॉल और (011-22901701) पर मिस्ड कॉल देकर सलाह ले सकते हैं। यह अभियान 17 भाषाओं में सभी मुख्य राष्ट्रीय सरकारी और निजी टीवी व रेडियो चैनलों के माध्यम से देशभर में अपनी पहुंच बनाएगा। इसके अलावा अभियान को सोशल मीडिया अभियान के तहत सभी प्रमुख डिजिटल मंचों जैसे यूट्यूब, फेसबुक, हॉटस्टार और वूट पर चलाया जाएगा।

Related Articles