गृह मंत्रालय ने बंगाल चुनाव के लिए 71 अतिरिक्त CAPF कंपनियों को तैनात किया

गृह मंत्रालय ( Home Ministry )  ने शनिवार को यह फैसला लिया। गृह मंत्रालय ने राज्य में हिंसा की हालिया घटनाओं को ध्यान में रखते हुए भारतीय निर्वाचन आयोग ( Election Commission of India ) के अनुरोध के बाद यह कदम उठाया है।

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव में निरंतर हिंसा के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने राज्य में शांति पूर्ण ढंग से चुनाव कराने के लिए तत्काल प्रभाव से केन्दीय सशस्त्र पुलिस बल ( CAPF ) की अतिरिक्त 71 कंपनियों की तैनाती का निर्णय लिया है। गृह मंत्रालय ( Home Ministry )  ने शनिवार को यह फैसला लिया। गृह मंत्रालय ने राज्य में हिंसा की हालिया घटनाओं को ध्यान में रखते हुए भारतीय निर्वाचन आयोग ( Election Commission of India ) के अनुरोध के बाद यह कदम उठाया है।

केन्द्र ने राज्य में स्वतंत्र और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए पहले ही CAPF की 1,000 कंपनियों को तैनात किया है। जिन्हें केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों के रूप में जाना जाता है। कल बंगाल के मुख्य सचिव, गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक ने इस बारे में गृह मंत्रालय को फैक्स भेजा था। जिसमें चुनाव आयोग ने केन्द्र से बंगाल विधानसभा चुनाव-2021 ( Bengal Assembly Election -2021 ) के लिए CAPF/ राज्य सशस्त्र पुलिस ( SAP ) / इंडिया रिजर्व बलाटियन की अतिरिक्त 71 कंपनियों को तैनात करने का अनुरोध किया है। चुनाव आयोग पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 2021 के लिए शनिवार को सिफारिशों के अनुपालन में CAPF के अतिरिक्त 71 कंपनियों को तैनात करने का निर्णय लिया गया है।

ग्रह मंत्रालय के पत्र के अनुसार, 71 अतिरिक्त बटालियनों में केंद्रीय रिजर्व पुलिस ( CRPF ) की 12 कंपनियों, सीमा सुरक्षा बल ( BSF ) की 33 कंपनियों, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ( ITBP ) की 13 कंपनियों, चार कंपनियां शामिल होंगी। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल ( CISF ) और सशस्त्र सीमा बल ( SSB ) की नौ कंपनियां शामिल होंगी। CAPF की 71 कंपनियों की तैनाती के साथ बंगाल में चुनाव के लिए कुल 1,071 कंपनियां सीएपीएफ, एसएपी और आईआर बटालियन उपलब्ध होंगी।

यह भी पढ़े: कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए, बाज़ार पर रहेगी निवेशकों की पैनी नजर

Related Articles

Back to top button