लखनऊ में हवाओं से शहर को मिली प्रदूषण से मामूली राहत

0

लखनऊ की हवा में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। बुधवार को वायु प्रदूषण एक्यूआई 416 से घटकर 339 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर पहुंच गया। प्रदूषण के मामले में लखनऊ अब दूसरे स्थान से खिसकर देश में सातवें स्थान पर पहुंच गया है।देश भर में प्रदूषण की स्थिति में सुधार हुआ है। ऐसा हवा चलने और धूप निकलने से हुआ है। सभी शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के नीचे आ गया है। प्रदूषण के मामले में करनाल पहले स्थान पर रहा। यहां एक्यूआई 393 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकार्ड किया गया। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक, लखनऊ की हवा में कुछ गुणात्मक सुधार शुरू हुआ है। मंगलवार को लखनऊ का एक्यूआई 416  रिकार्ड हुआ था।

डीएम के निर्देश

फिलहाल वायु प्रदूषण किसी दिन कम होने पर भी जारी रहेंगे बचाव के कार्य
एनएचएआई से जुड़ी एजेंसियां करेंगी पानी के टैंकरों की व्यवस्था
धूल वाले इलाकों में तीन बार किया जाएगा पानी का छिड़काव
प्रशासन की टीम करेगी प्रदूषण पर काबू करने के प्रयासों की निगरानी
शहर के सभी व्यस्त मार्गों पर पानी का छिड़काव जारी रहेगा। पेड़ों पर भी नगर निगम, फायर ब्रिगेड और जलसंस्थान छिड़काव करेंगे।
ढिलाई बरतने वाले अफसरों पर होगी विभागीय कार्रवाई

लालबाग में सबसे ज्यादा प्रदूषण
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की मॉनीटरिंग में बुधवार को लालबाग क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा। यहां पर सबसे अधिक एक्यूआई 365 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज किया गया। दूसरे स्थान पर रहे तालकटोरा औद्योगिक इलाका रहा। यहां एक्यूआई की मात्रा 337 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रिकार्ड की गई। गोमतीनगर तीसरे स्थान पर रहा। यहां की एक्यूआई 324 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज हुई। सबसे कम प्रदूषण अलीगंज इलाके में रहा। यहां का एक्यूआई 281 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रहा।

loading...
शेयर करें