मिर्जापुर घटना: थानाध्‍यक्ष सस्‍पेंड, जांच के आदेश

154_1435453137
लखनऊ। मिर्जापुर में युवती के आत्महत्या किये जाने के मामले को शासन ने गम्‍भीरता से लिया है। मामले में शिथिलता व लापरवाही के आरोप में थानाध्यक्ष पडरी को निलम्बित कर दिया गया है तथा घटना की गम्भीरता को देखते हुये मजिस्ट्रेटियल जांच के आदेश दिए गए हैं।
गृह विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि इस प्रकरण में थाना पडरी पर मुकदमा अपराध संख्या 1098/15 धारा 376घ/452/306 भादवि व 3/4 पाक्सो एक्ट का अभियोग पंजीकृत कर दोनों नामित अभियुक्‍तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।
युवती के शव का पोस्टमार्टम दो डाक्टरों के पैनल से कराया गया, जिसकी वीडियोग्राफी भी करायी गयी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण ‘‘एक्सफिसिया ड्यू टू एन्टी मार्टम हैंगिंग’’ पाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुराचार की पुष्टि नहीं हुई है। स्लाइड बनवाकर परीक्षण के लिए भेजा गया है।
उल्लेखनीय है कि 25 दिसम्बर को थाना पडरी पर संजय निवासी शिवगढ़ थाना पडरी जनपद मिर्जापुर ने सूचना दी कि उसकी 16 वर्षीया भांजी जो उसके घर में रह रही थी को 23/24 दिसम्बर की रात्रि गांव के ही दो व्‍यक्तियों जबरदस्ती उठाकर खेत में ले गए। उसके साथ दुराचार किया गया है। यह भी आरोप लगाया गया है कि इससे क्षुब्ध होकर 25 दिसम्बर को पीडि़ता ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button