BCCI को मिताली का नया सुझाव, बिग बैश लीग की तरह महिला क्रिकेटरों के लिए भी होना चाहिए टूर्नामेंट

0

लंदन| आईसीसी महिला वर्ल्ड कप भले ही भारतीय टीम हार गई हो लेकिन महिलाओं ने देश का दिल जरुर जीत लिया है। रविवार को क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स मैदान पर भारत ने मेजबान टीम इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मैच खेला। इस मैच में इंग्लिश टीम ने भारत को नौ रन से हरा दिया।

मिताली राज

लॉर्ड्स मैदान पर नौ रन से हारी भारतीय टीम

इसी बीच कप्तान मिताली राज ने एक बड़ा बयान दिया है। मिताली की माने तो भारत में भी महिला क्रिकेटर को बढ़ावा देने के लिए BCCI को घरेलू लीग का आयोजन करना चाहिए। बताते चलें, रविवार को लॉर्ड्स मैदान पर हुए मैच में शानदार प्रदर्शन के बावजूद भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : #WWC17 : फाइनल मैच हारने के बावजूद कायम है कप्तान मिताली…

कप्तान मिताली का बड़ा बयान, बोर्ड से हैं ये उम्मीदे

मगर तब भी कप्तान मिताली का मानना है कि देश में महिलाओं के लिए भी बोर्ड को IPL का आयोजन करना चाहिए क्योंकि इस टूर्नामेंट के आयोजन का सही ही समय है। उन्होंने ये भी कहा कि अगर सही मौका देखते हुए बोर्ड इस लीग का आयोजन करता है तो इससे महिला क्रिकेटरों को अच्छे प्रदर्शन का अनुभव मिलेगा। साथ ही महिला खिलाड़ी अपने खेल में सुधार कर पाएगी।

मिताली ने कहा, “डब्ल्यूबीबीएल में मिले अनुभव से हमारी टीम की दो खिलाड़ियों स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर के खेल में बहुत सुधार हुआ है। अगर अधिक से अधिक खिलाड़ी इस प्रकार की लीग में हिस्सा लेंगी, तो इससे उन्हें अच्छा अनुभव हासिल होगा, जो टीम के खेल में सुधार करेगा। अगर आप मुझसे पूछें, तो यह समय महिलाओं के लिए आईपीएल की शुरुआत का सबसे सही समय है।”

मिताली राज

हार से मिली निराशा के बावजूद कप्तान मिताली ने इस टूर्नामेंट में अपनी टीम के सफर को खास बताया। उन्होंने कहा, “एक कप्तान के तौर पर मैं गौरवान्वित हूं। मैंने अपनी टीम में बदलाव देखा है। हमने इस टूर्नामेंट की अच्छी शुरुआत की थी। खिताबी मैच में टीम की खिलाड़ियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।”

यह भी पढ़ें : चैपल ने कोच विवाद को लेकर दिया बड़ा बयान, कुंबले को…

भारतीय टीम को मिली हार के पीछे का कारण बताते हुए मिताली ने कहा, “हर कोई घबराया हुआ था और शायद यही हमारी हार का कारण है। खिलाड़ी अधिक निराश हैं, क्योंकि उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। यह स्वाभाविक है, इसमें समय लगेगा। इन खिलाड़ियों ने भारत में महिला क्रिकेट के स्तर को बढ़ाने हेतु नए आयाम तय किए हैं और इस पर सभी को गर्व होना चाहिए।”

loading...
शेयर करें