विधानसभा में कोरोना प्रोटोकॉल के तहत एक सीट छोड़कर बैठेंगे विधायक

लखनऊ: प्रदेश में आगामी 18 फ़रवरी से शुरू हो रहे बजट सत्र को लेकर तैयारियां तेज हो गयी है। आज विधानसभा (Assembly) के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने वर्ष 2021 के प्रथम सत्र के अवसर पर सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में बैठक की, बैठक में सत्र के दौरान विधानसभा (Assembly) की सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की गई। इस बैठक में अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन हेमंत कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी, प्रमुख सचिव विधानसभा प्रदीप कुमार दुबे, मंडलायुक्त रंजन कुमार, पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर समेत अन्य अधिकारी शामिल हुए।

सदन से जुड़े सभी लोगों की कोरोना जांच

विधानसभा सत्र से जुड़े सभी कर्मचारियों अधिकारियों विधायकों की कोरोना जांच कराई जा रही है। अध्यक्ष ने बताया कि विधानसभा के सभी कर्मियों की कोरोना जांच करा ली गई है। विधायकों की कोरोना जांच की जा रही है। सुरक्षा व्यवस्था में लगे हुए सभी कर्मियों की भी जांच कराई जाएगी। मीडिया कर्मियों के लिए इस बार भी तिलक हाल में ही बैठने की व्यवस्था की गई है।

थर्मल स्कैनिंग के बाद ही प्रवेश की अनुमति

उन्होंने बताया कि सदस्यों को विधान भवन में आने जाने के लिए निर्बाध व्यवस्था तथा पार्किंग की समुचित व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए गए हैं। विधानसभा के प्रवेश के सभी द्वारों पर सदस्यों एवं मीडिया कर्मियों के वाहनों की जांच एवं थर्मल स्कैनिंग के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा।

डिजिटल मिलेगी बजट की कॉपी

विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि बजट की कॉपी सभी सदस्यों को डिजिटल मिलेगी। सभी सदस्य बजट की कॉपी अपने टेबलेट पर ही देख सकेंगे। मीडिया के लिए भी इसकी डिजिटल कॉपी उपलब्ध कराई जाएगी। विधानसभा के वेबसाइट पर भी इसे अपलोड किया जाएगा। यहां तक कि विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री और संसदीय कार्य एवं वित्त मंत्री के लिए भी बजट की कॉपी डिजिटल ही उपलब्ध होगी। उन्होंने बताया कि बजट के अलावा सत्र की अन्य कार्यवाही पूर्व की भांति ही संचालित होगी।

बुधवार को सर्वदलीय बैठक

यूपी विधानसभा अध्यक्ष ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक के माध्यम से विधानसभा अध्यक्ष सभी दलों के नेताओं से सदन की कार्यवाही निरंतर रूप से चलाने के लिए सहयोग की अपील करेंगे। इस बैठक में नेता सदन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत सभी दलों के नेता शामिल होंगे। इसके साथ ही कार्य मंत्रणा समिति की बैठक भी बुलाई गई है।

यह भी पढ़ें: गुलामी की मानसिकता रखने वालों ने जो लिखा वो इतिहास नहीं है: मोदी

Related Articles

Back to top button