भीड़ ने ईशनिंदा को लेकर श्रीलंकाई नागरिक को किया किया प्रताड़ित, जलाया शव

इस्लामाबाद: डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, एक चौंकाने वाली घटना में पाकिस्तान के सियालकोट में भीड़ ने एक श्रीलंकाई नागरिक को प्रताड़ित किया और उसके शरीर को जला दिया। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए भारी पुलिस बल को इलाके में भेजा गया है।

बुधवार को हुई इस घटना को कथित ईशनिंदा का एक और मामला बताया जा रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सियालकोट जिला पुलिस अधिकारी उमर सईद मलिक ने कहा कि प्रियंता कुमारा के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति की पहचान श्रीलंकाई नागरिक के रूप में हुई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह घटना सियालकोट के वजीराबाद रोड पर हुई, जहां कथित तौर पर निजी कारखानों के श्रमिकों ने एक कारखाने के निर्यात प्रबंधक पर हमला किया और उसकी हत्या कर उसके शरीर को जला दिया।

डॉन अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, कथित तौर पर, निजी कारखानों के श्रमिकों ने एक कारखाने के निर्यात प्रबंधक पर हमला किया और उसकी हत्या करने के बाद उसके शरीर को जला दिया।

सोशल मीडिया पर साझा किए गए वीडियो में सैकड़ों पुरुष और युवा लड़के साइट पर एकत्र हुए दिखाई दे रहे हैं। कुछ वीडियो में लोगों को “लब्बैक या रसूल अल्लाह” के नारे लगाते हुए सुना जा सकता है।

पाकिस्तान के पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार ने हत्या का संज्ञान लेते हुए इसे “बहुत दुखद घटना” करार दिया, जबकि सियालकोट पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि प्रारंभिक जांच के बाद विवरण मीडिया के साथ साझा किया जाएगा।

बुजदार ने पुलिस महानिरीक्षक से रिपोर्ट तलब की है और मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, “घटना के हर पहलू की जांच की जानी चाहिए और एक रिपोर्ट पेश की जानी चाहिए। कानून अपने हाथ में लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।”

 

Related Articles