मोबाइल (Mobile) और चार्जर महंगे होंगे, लोहे और स्टील के प्रोडक्ट सस्ते

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में कहा कि मोबाइल उपकरण पर कस्टम ड्यूटी 2.5 फीसदी लगेगा जिसके बाद मोबाइल और चार्जर महंगे होने की उम्मीद है

नई दिल्ली: देश की पहली महिला वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021 के खास बजट (Budget) को पेश करते हुए कहा कि मोबाइल (Mobile) उपकरण पर कस्टम ड्यूटी 2.5 फीसदी लगेगा जिसके बाद मोबाइल और चार्जर महंगे होने की उम्मीद है। इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी महंगे हो जाएंगे।

बजट Update

  • वित्तमंत्री ने कहा कि GST अब चार साल पुरानी हो गई है। जीएसटीएन सिस्टम की क्षमता भी बढ़ाई गई है। फेक बिलर्स की पहचान हो रही है। इसका नतीजा उत्साहजनक है। पिछले कुछ महीनों में रेकॉर्ड जीएसटी कलेक्शन हुआ है।
  • टैक्स ऑडिट (Tax Audit) की लिमिट 5 करोड़ से बढ़ाकर 10 करोड़ करने का प्रस्ताव किया गया है।
  • वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि पेंशन से होने वाली कमाई पर अब टैक्स (Tax) नहीं देना होगा।
  • ऑटो पार्ट्स (Auto parts) पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 15 फीसदी करने का ऐलान किया गया जिससे यह भी महंगा हो जाएगा।

यह भी पढ़ेपिता बनने पर Troll हुए कपिल, क्या Deepika भी देने जा रही हैं गुड न्यूज?

  • कुछ सामानों पर एग्रीकल्चर इन्फ्रा सेस (Agriculture infra cess) लगाया जाएगा जिसका लाभ किसानों को दिया जाएगा।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट भाषण समाप्त हो गया है। इस बार के बजट में सैलरीड क्लास के लिए कुछ नहीं घोषित किया गया है।

  • छोटे करदाताओं (Small Taxpayers) के लिए मैं एक विवाद समाधान समिति गठित करने का प्रस्ताव करती हूं जो पार्दर्शिता सुनिश्चित करेगी। 50 लाख रुपये तक की कर योग्य आय वाले और 10 लाख रुपये तक की विवादित आय वाले लोग समिति के पास जा सकते हैं।
  • निर्मला सीतारमण ने कहा कि आगामी जनगणना भारत के इतिहास में पहली डिजिटल जनगणना होगी। इसके लिए मैंने 3,768 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।
  • डिजि​टल पेमेंट (Digital Payment) को बढ़ावा देने के लिए 1,500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, ये पैसे एक स्कीम पर खर्च किए जाएंगे जिसमें डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए वित्तीय इंसेंटिव दिया जाएगा।
  • नेशनल रिसर्च फाउंडेशन पर अगले 5 वर्ष में 50,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

यह भी पढ़े2021 Budget Update: आदिवासी इलाकों में खुलेंगे विद्यालय, 75 साल से ज्यादा बुजुर्गों को राहत

Related Articles

Back to top button