अमेरिका में अंतरिम बजट का साधुवाद, विकास दर 7.5 फीसद तक पहुंचा सकता है यह बजट

0

नई दिल्लीः भारत के अंतरिम बजट की तारीफ अमेरिका के शीर्ष कारोबारी संगठनों ने भी की है। यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल का कहना है कि कार्यवाहक वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा प्रस्तुत बजट में कई सकारात्मक प्रावधान हैं। जिनसे उपभोक्ता व्यय बढ़ेगा और आर्थिक विकास को रफ्तार मिलेगी।

यूएसआइबीसी की प्रेसिडेंट निशा देसाई बिस्वाल के मुताबिक रक्षा और स्वास्थ्य का बजट बढ़ाया गया है। इसके अतिरिक्त सरकारी कामकाज का डिजिटाइजेशन और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर फोकस भी बढ़ाया गया है। फिल्म प्रोडक्शन के लिए सिंगल विंडो अप्रूवल से मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्रीज को बढ़ावा मिलेगा और पायरेसी रोकने के लिए भी कदम उठाए गए हैं।

यूएसआइबीसी ने ई-कॉमर्स कंपनियों के नए नियम लागू किए जाने को निराशाजनक बताया है। इन नियमों को लागू करने की तारीख एक फरवरी न बढ़ाए जाने से कंपनियों के कामकाज में व्यवधान उत्पन्न हुआ है।इससे भारतीय उपभोक्ताओं और सप्लायरों को नुकसान होगा।

अंतरिम बजट किसानों और मध्यम वर्ग के हितों को साधने वाला है। छोटे व सीमांत किसानों को वित्तीय मदद और मध्यम वर्ग के लोगों को आयकर रियायतें देने से उनकी खर्च योग्य आय बढ़ेगी। इससे उपभोक्ता व्यय बढ़ेगा और आर्थिक विकास दर तेज होगी। पीयूष गोयल ने अच्छा वित्तीय संतुलन बनाया है। इस बजट से भारत की विकास दर सुधरकर 7.5 फीसद तक जा सकती है।ऐसा यूएसए-इंडिया चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रेसिडेंट करुण ऋषि ने कहा।

loading...
शेयर करें