केरल को मोदी सरकार की पेशकश निराशाजनक

0

तिरुवनंतपुरम : केरल के पूर्व सीएम ओमन चांडी ने बुधवार को कहा कि सदी की सबसे विनाशकारी बाढ़ झेल रहे केरल की मदद के लिए मोदी सरकार की पेशकश निराशाजनक है। कांग्रेस नेता ने केंद्र द्वारा कथित रूप से यूएई की वित्तीय मदद की पेशकश को अस्वीकार करने पर भी नाखुशी जताई। यूएई में हजारों केरलवासी रहते हैं।

चांडी ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा है, “मुझे माफ कीजिएगा, क्योंकि भारत सरकार द्वारा घोषित की गई वित्तीय सहायता नुकसान के लिहाज से काफी निराशाजनक है।”

उन्होंने कहा कि बाढ़ के कारण पैदा हुए संकट से पार पाने के लिए उचित वित्तीय सहायता की जरूरत है। 29 मई से शुरू हुई मॉनसूनी बारिश के कारण आई बाढ़ में अब तक 370 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 10 लाख लोग राहत शिविरों में पनाह लिए हुए हैं।

चांडी ने कहा, “यह केरल के लोगों के लिए बड़ी राहत की बात है कि देश-विदेश के कई दयालु लोगों और सामाजिक संगठनों ने इस आपदा को अपना मामला समझा और इस आपदा से पार पाने में हमारी मदद के लिए अविश्वसनीय पेशकश की।”

उन्होंने मोदी से आग्रह किया कि वह विदेशी वित्तीय सहायता स्वीकारने में आ रही बाधा को दूर करें।

यूएई के शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान ने केरल को 700 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की पेशकश की है, जबकि केंद्र ने 600 करोड़ रुपये की सहायता दी है।

चांडी ने कहा, “मुझे आशा है कि भारत सरकार केरल को अत्यधिक संभावित सहायता मुहैया कराने के लिए कदम उठाएगी, क्योंकि आपने बाढ़ को गंभीर आपदा के रूप में पेश करने का फैसला किया है।”

loading...
शेयर करें