रेडियो पर मोदी ने देश से की Mann Ki Baat

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेडियो कार्यक्रम Mann Ki Baat के जरिए लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि 100 करोड़ टीकाकरण अभियान ने इतिहास रच दिया। उन्होंने कहा कि देश नई ऊर्जा से आगे बढ़ रहा है। कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा- 31 अक्टूबर को हम राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाते हैं। हम सभी का दायित्व है कि हम एकता का संदेश देने वाली किसी-ना-किसी गतिविधि से जरुर जुड़ें।

Mann Ki Baat में कई अहम् पहलुओं पर दिया ज़ोर

पीएम मोदी ने मन बात कार्यक्रम के जरिए कहा कि भारत ने सदैव विश्व ​शांति के लिए काम किया है। हमें इस बात का गर्व है कि भारत 1950 के दशक से लगातार संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन का हिस्सा रहा है। गरीबी हटाने, जलवायु परिवर्तन और श्रमिकों से संबंधित मुद्दों के समाधान में भी भारत अग्रणी भूमिका निभा रहा है।

पहले ये धारणा बन गई थी कि सेना और पुलिस जैसी सेवा केवल पुरुषों के लिए ही होती है लेकिन आज ऐसा नहीं है। पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो के आंकड़े बताते हैं कि पिछले कुछ वर्षों में महिला पुलिसकर्मियों की संख्या दोगुनी हो गई है। पीएम मोदी ने स्वच्छता पर जोर देते हुए कहा कि स्वच्छता के प्रयास तभी पूरी तरह सफल होते हैं जब हर नागरिक स्वच्छता को अपनी जिम्मेदारी समझें।

अभी दीपावली पर हम सब अपनी घर की साफ सफाई में तो जुटने ही वाले हैं। लेकिन इस दौरान हमें ध्यान रखना है कि हमारे घर के साथ हमारा आस-पड़ोस भी साफ रहें। पीएम मोदी ने कहा कि इतने त्योहार एक साथ होते हैं तो उनकी तैयारियां भी काफी पहले से शुरू हो जाती हैं। आप सब भी अभी से खरीदारी की तैयारी करने में लगे होंगे। लेकिन आपको याद है न, खरीदारी मतलब Vocal For Local है। आप local खरीदेंगे तो आपका त्योहार भी रोशन होगा और किसी गरीब भाई-बहन, किसी कारीगर, किसी बुनकर के घर में भी रोशनी आएगी। पीएम मोदी ने कहा कि पहले ड्रोन के सेक्टर में इतने नियम और प्रतिबंध लगाकर रखे गए थे कि इसकी असली क्षमता का इस्तेमाल भी संभव नहीं था।

जिस तकनीक को अवसर के तौर देखा जाना चाहिए था, उसे संकट के तौर पर देखा गया। अगर आपको किसी भी काम के लिए ड्रोन उड़ाना है तो लाइसेंस और प​रमिशन का इतना झंझट होता था कि लोग ड्रोन के नाम से ही तौबा कर लेते थे। हमने तय किया कि इस माइंडसेट को बदला जाए और नए ट्रेंड को अपनाया जाए।

यह भी पढ़ें : जेल में Aryan को याद आये भगवान, राम सीता पर आधारित किताबें पढ़ रहे खान

Related Articles