ममनून के कान में ऐसा क्या बोले पीएम मोदी, जो SCO के मंच पर गड़ गईं सबकी नज़रें

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान के संबंधों में खटास की बात किसी से छिपी नहीं है। सीमा पर पाक सेना द्वारा बार-बार संघर्ष विराम का उल्लंघन और भारतीय सेना को उकसावा देने की ख़बरें लगातार चर्चा में बनी रहती हैं। ऐसे में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन में शामिल हुए पीएम मोदी के सामने पाक राष्ट्रपति ममनून हुसैन का जानबूझ कर आना, फिर उनसे हाथ मिलाना किसी मंशा के तहत बढ़ाया गया कदम हो सकता है।

मनमोहन के खिलाफ बयान देने पर पीएम मोदी पर भड़की कांग्रेस,…

ममनून से बोले मोदी

इसकी सुगबुगाहट इस बात के सामने आने के बाद ही शुरू हो गई है। लेकिन सबसे अहम ये रहा कि जब ममनून हुसैन ने पीएम मोदी की तरफ हाथ बढ़ाया और पीएम मोदी ने गर्मजोशी के साथ इसका सम्मान करते हुए अपना हाथ बढ़ाया। तभी आगे बढ़ते हुए उन्होंने ममनून के कान में कुछ कहा, जिसके बाद पाक राष्ट्रपति मुस्कुराते हुए नज़र आये।

बता दें दोनों के बीच चंद लम्हों के लिए ही बातचीत हुई। लेकिन इस कुछ सेकेंड की बातचीत को भी काफी अहम माना जा रहा है।

दोनों की मुलाक़ात का ये नजारा सामने आने के बाद से ही, गुपचुप इस बात पर जिक्र शुरू हो गया कि आखिर पीएम मोदी ने ममनून के कान में ऐसा क्या कहा कि वो मुस्कुरा दिए।

दिल्ली-NCR में अचानक से बदला मौसम का मिजाज, दिन में छाया…

क्या उन्होंने ममनून के कम में कोई चुटकुला सुनाया या फिर कोई ऐसी गूढ़ बात, जिसकी शिकन छुपाने के लिए पाक राष्ट्रपति को अपनी झेप छिपाने के लिए मुस्कुराना पड़ा।

फिलहाल अभी भी ये एक रहस्य बना हुआ है, लेकिन कुछ पलों की इस बात को नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता।

खबरों के मुताबिक़ पीएम मोदी और पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन के बीच महज 10 सेकंड की बातचीत हुई। जिसमें पीएम मोदी ही हुसैन से बातचीत करते दिखे।

हालांकि, ममनून हुसैन ने पहले मोदी की तरफ हाथ बढ़ाया था, जिसके बाद पीएम मोदी ने उनके प्रति गर्मजोशी दिखाई।

यह बातचीत बहुत ही छोटी रही। जिसमें पीएम मोदी पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन से कुछ कहते दिख रहे हैं, जबकि ममनून हुसैन के चेहरे पर हल्की मुस्कान दिखाई दे रही है।

इसके बाद पीएम मोदी आगे बढ़ जाते हैं और ममनून हुसैन भी पीएम मोदी की पीठ पर हाथ रखकर आगे बढ़ जाते हैं।

इस बीच मंच पर मौजूद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और दूसरे नेता सामने आ जाते हैं और ममनून हुसैन उनसे मुलाकात करने लगते हैं।

बता दें कि दोनों देश पहली बार पूर्ण सदस्य के रूप में इस मंच पर जमा हुए हैं। हालांकि, इस बार दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय बातचीत नहीं होनी है, लेकिन मंच पर पीएम मोदी और ममनून हुसैन के बीच चंद लम्हों की बातचीत भी काफी मायने रखती थी।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सम्मेलन के सत्र को संबोधित किया और आतंकवाद का मुद्दा भी उठाया।

Related Articles