IPL
IPL

मोहम्मद सिराज ने अपनी सफलता का श्रेय इन दो खिलाड़ियों को दिया

भारत के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज ने कहा की वह भारत के लिए तीनो प्रारूपों में खेलना चाहते है और साथ ही साथ उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने साथी खिलाड़ी जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा को दिया।

नई दिल्ली: तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज का Team India के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बनने का सपना है। और वह अपने इस सपने लिए बेहद कड़ी मेहनत कर हैं और मिलने वाले सभी अवसरों का पूरा फायदा उठाना चाहते हैं’। नवंबर 2017 में New Zealand  के खिलाफ T20 में डेब्यू करने के बाद भारत के लिए वह अब तक एक One Day , तीन T20 आई और पांच Test खेल चुके हैं। भारत के तेज़ गेंदबाज़ सिराज ने कहा कि वह तीनों प्रारूपों में खेलना चाहते हैं और अपनी सफलता का श्रेय उन्होंने साथी पेसर जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा को दिया है।

सिराज ने एक इंटरव्यू में कहा की “जब भी मैं गेंदबाजी करता था, तो जसप्रीत बुमराह मेरे बगल में खड़े रहते थे। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं बेसिक पर टिका रहूं और कुछ अन्य करने की कोशिश न करूं। ऐसे अनुभवी खिलाड़ी से सीखना अच्छा है। उन्होंने यह भी कहा, ‘मैंने इशांत शर्मा के साथ भी खेला है, उन्होंने 100 टेस्ट खेले हैं। उनके साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करके काफी अच्छा लगा। मेरा सपना भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने का है और जब भी मुझे मौका मिलेगा मैं कड़ी मेहनत करूंगा। ”

ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान, मैं क्वारंटाइन था

दिसंबर 2020 में Australia  के Test Cricket में डेब्यू करने के बाद से सिराज ने काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया है। यह सिराज के लिए एक जीवन भर याद रहने वाला दौरा था, क्योंकि Australia में जब वह क्वारंटाइन में थे तो उनके पिता का देहांत हो था। इसे लेकर उन्होंने कहा कि “ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान, मैं क्वारंटाइन में था और जब हम अभ्यास से वापस आए, तो मुझे पता चला कि मेरे पिता का निधन हो गया है। उस वक़्त, कोई भी मेरे कमरे में नहीं आ सकता था। मैंने अपने घर फोन किया और मेरी मंगेतर और मां ने मेरा काफी सपोर्ट किया और मुझे समझाया कि मुझे भारत के लिए खेलने के अपने पिता के सपने को ज़रूर पूरा करना चाहिए।

(ये खबर हमारे इंटर्न कार्तिकेय शर्मा ने लिखी है)

ये भी पढ़ें : Air Hostess को Insta पर अश्लील मैसेज भेजने वाला छात्र धराया, IPC की धाराओं में मामला दर्ज

Related Articles

Back to top button