बंदरों के आतंक से जल्द मिलेगी निजात

utt-monkey-3

रुद्रप्रयाग। उत्तराखंड के प्रमुख जिलों में बदंरों के आतंक से आम जनता और पर्यटक खासे परेशान हैं। चाहे वो हरिद्वार, ऋषिकेश, रुद्रप्रयाग हो या फिर नैनीताल, अल्मोड़ा और पिथौरागढ़। वन विभाग ने इस समस्या पर गंभीरता दिखाते हुए अब अभियान के तौर पर बंदरों को पकड़ने का काम शुरु किया है। अभियान के पहले दिन मंगलवार को विभाग ने दस बंदरों को पकड़ा।

utt-monkey-4

मंगलवार को वन विभाग की टीम ने महादेव मोहल्ला से बंदरों को पकड़ने का अभियान शुरू किया, जो देर शाम तक जारी रहा। पूरे दिन दस बंदर पकड़े गए। नैनीताल से प्रशिक्षण लेकर लौटी वन विभाग की टीम रुद्रप्रयाग रेंज के कर्मचारियों को भी बंदर पकड़ने का प्रशिक्षण दे रही है।

utt-monkey-5

बता दें कि करीब महीना भर पहले बदंरों के उत्पात के चलते अल्मोड़ा कलेक्ट्रेट में ट्रांसफॉर्मर फुंक गया था जिससे कई विद्युत उपकरणों को नुकसान पहुंचा था। इसके अलावा रुद्रप्रयाग में हाल ही में बंदरों को भगाते समय खाई में गिरने से एक फौजी की मौत हो गई थी। इसके साथ ही बंदर बच्चों और महिलाओं के साथ ही पुरुषों पर भी कहीं भी, कभी भी हमला कर दे रहे हैं और फसलों को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं।

utt-monkey-2

वन विभाग ने जनता और पर्यटकों की परेशानी को देखते हुए एक प्लान तैयार किया है। वन निदेशालय से स्वीकृति मिलने के बाद ही बंदरों को पकड़ने की कार्रवाई शुरु की गयी है। इस संबंध में वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि बंदरों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है। और पकड़े गये बंदरों की नसबंदी करके उन्हें दोबारा घने जंगलों में छोड़ दिया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button