मुंबई में Monsoon शुरू, लोकल ट्रेन बंद, अगले 5 दिनों के लिए मौसम की चेतावनी जारी

मुंबई में मानसून की शुरूआत के साथ सड़कों पर भारी जलभराव, लोकल ट्रेन सेवाएं निलंबित, अगले 5 दिनों के लिए मौसम की चेतावनी जारी

मुंबई: मानसून (Monsoon) आज मुंबई (Mumbai) में पहुंच गया है। जिसकी वजह से मुंबई में भारी बारिश होने के बाद कई जगह सड़कों पर जलभराव हो गया है। IMD मुंबई के उप महानिदेशक जयंता सरकार ने बताया कि मानसून के सामान्य आगमन की तारीख हर साल 10 जून है। इस बार यह औसत आगमन की तारीख से पहले आ गया है।

मुंबई के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के लिए अगले 5 दिनों के लिए मौसम की चेतावनी जारी की है।

भीषण जलभराव के कारण मुंबई के अंधेरी (Andheri) सबवे बंद। भारी बारिश के कारण आज शहर के कई हिस्सों में जलभराव हो रहा है।

लोकल ट्रेन सेवाएं निलंबित

मुंबई, सेंट्रल रेलवे सीपीआरओ (CPRO) ने जानकारी दी है कि, कुर्ला और सायन स्टेशनों पर पटरियों के ऊपर से पानी बहने के कारण मुंबई लोकल ट्रेन (Mumbai local train) सेवाएं कुर्ला और सीएसएमटी के बीच रुकी हुई हैं। सुबह साढ़े 9 बजे से यातायात, किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए एहतियात के तौर पर लिया गया फैसला पानी उतरते ही फिर शुरू होगा यातायात।

Mumbai मध्य रेलवे सीपीआरओ के मुताबिक, चूनाभट्टी रेलवे स्टेशन के पास भी भारी बारिश और जलभराव के कारण हार्बर लाइन b/w CSMT- वाशी पर ट्रेन सेवाएं सुबह 10.20 बजे से निलंबित हैं। सायन-कुर्ला खंड में जलभराव के कारण मेन लाइन पर सुबह 10.20 बजे से सीएसएमटी-ठाणे (CSMT-Thane) से सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं।

IMD रिपोर्ट-

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पूरे मध्य और उत्तरी अरब सागर के कुछ हिस्सों, मुंबई सहित पूरे कोंकण और आंतरिक महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों में आगे बढ़ गया है।

मुंबई में इतने मिमी में बारिश दर्ज-

  • कोलाबा: 65.4 मिमी
  • सांताक्रूज: 50.4 मिमी
  • छिंदवाड़ा-51.0 मिमी
  • अकोला-66.0 मिमी
  • फोर्ब्सगंज-94.0 मिमी
  • परभणी-58.0 मिमी
  • हनमकोंडा- 119.0 मिमी
  • गंगटोक-114.0 मिमी
  • गोलपारा-81.0 मिमी
  • उत्तर लखीमपुर-71.0 मिमी
  • मायाबंदर-59.0 मिमी
  • लांग इस्लांस्डा-101.0 मिमी
  • पोर्ट ब्लेयर, हट बे-89.0 मिमी

यह भी पढ़ेभीषण सड़क हादसा: कानपुर में दर्दनाक हादसे में 9 लोगों की मौत, कई घायल

Related Articles