मानसून जल्द देगा दुसरे राज्यों में दश्तक, बदली मानसून की चाल

आने वाले कुछ ही घंटों में मानसून तेजी से दूसरे राज्यों में देगा दस्तक

नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। एक तरफ मुंबई, ओडिशा और गुजरात में मानसून ने भारी बारिश करके लोगों के लिए आफत खड़ी कर दी है, दूसरी तरफ उत्तर भारत समेत देश के ज्यादातर इलाके में अब भी लोगों को बारिश की बूंदों का इंतजार है। तेज बारिश की वजह से मुंबई व झारखंड में कई लोगों की मौत हो चुकी है। वहीँ चेन्नई के इलाकों में बारिश की एक बूँद के लिए लोग तरसते नजर आते है। मौसम विभाग ने सात जुलाई तक मुंबई, ओडिशा, मध्य प्रदेश और गुजरात के कई इलाकों में लगातार बारिश होने का अनुमान जताया है। साथ ही मौसम विभाग ने उत्तर भारत व दिल्ली आसपास के राज्यों के लिए भी राहत की खबर दी है।

मौसम विभाग व स्काईमेट के अनुसार मानसून द्वारका, अहमदाबाद, भोपाल, जबलपुर, पेंड्रा, सुल्तानपुर, लखीमपुरी खीरी, मुक्तेश्वर के ऊपर से होते हुए उत्तर की तरफ बढ़ रहा है। साथ ही बंगाल की खाड़ी के उत्तर व आसपास के क्षेत्र जैसे उत्तरी ओडिशा, पश्चिमी बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों व पश्चिम बंगाल के उत्तर-पश्चिम एरिया में एक निम्न दबाव क्षेत्र भी बन रहा है। अगले 48 घंटे में इसके और सघन होने की उम्मीद है।

आने वाले समय में मानसून कहा पहुचेगा जाने

निम्न दबाव क्षेत्र सघन होने से दक्षिण-पश्चिम में सक्रिय मानसून मध्य भारत के शेष हिस्सों, पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों, पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में मानसून एक से तीन जुलाई के मध्य दस्तक दे सकता है। इसके अलावा दक्षिण-पश्चिम के शेष हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और हिमाचल के कुछ हिस्से में भी दो से चार जुलाई तक मानसून की बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी से सघन हो रहे कम दबाव क्षेत्र से हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में अगले कुछ दिनों में मौसम करवट लेगा।

ओडिशा में इस सप्ताह सबसे ज्यादा बारिश होने वाली है। जिससे ओडिशा में कई जगहों पर जल भराव होने की आशंका जताई जा रही है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश में भी लगातार एक सप्ताह तक बारिश होने का दावा किया जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार इन सब जगहों पर काफी ज्यादा बारिश होने का अनुमान है।

अभी महाराष्ट्र में बारिश थमने का नाम नही ले रही है। जिससे वहां पर २५ लोगों से अधिक अलग अलग स्थानों पर मौतें हो चुकी है।मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह दी गई है। महाराष्ट्र में भारी बारिश की वजह से 13 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं, जबकि दो का रूट बदला है। रेलवे ट्रैक पर पानी भरने से हादसे का खतरा बढ़ गया है। झारखंड में भी अगले चार दिनों तक जोरदार बारिश जारी रहने का अलर्ट जारी किया है।

Related Articles