महिला सुरक्षा के प्रति योगी सरकार के दावे फेल, NCW की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

UP में महिलाओं के खिलाफ अपराध ज्यादा

देश की राजधानी दिल्ली में राष्ट्रीय महिला आयोग को पिछले साल महिलाओं के खिलाफ अपराध की करीब 31,000 शिकायतें मिलीं थी. जोकि साल 2014 के बाद सबसे ज्यादा हैं. इनमें से आधे से ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश के थे. वहीं, महिलाओं के खिलाफ अपराध की शिकायतों में 2020 की तुलना में 2021 में 30 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है. उस दौरान 23,722 शिकायतें प्राप्त हुईं थीं.

UP में महिलाओं के खिलाफ अपराध ज्यादा

दरअसल, एनसीडब्ल्यू के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 30,864 शिकायतों में से ज्यादातर 11,013 सम्मान के साथ जीने के अधिकार से संबंधित थीं. इसके बाद घरेलू हिंसा से संबंधित 6,633 और दहेज उत्पीड़न से संबंधित 4,589 शिकायतें मिली थीं. इस दौरान सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराधों की सबसे ज्यादा 15,828 शिकायतें दर्ज की गईं. इसके बाद दिल्ली में 3,336, महाराष्ट्र में 1,504, हरियाणा में 1,460 और बिहार में 1,456 शिकायतें दर्ज की गईं.

घरेलू हिंसा से जुड़ी शिकायतें ज्यादा

बता दें कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, सम्मान के साथ जीने के अधिकार और घरेलू हिंसा से जुड़ी सबसे ज्यादा शिकायतें उत्तर प्रदेश से प्राप्त हुईं. वहीं, NCW को 2014 के बाद से प्राप्त शिकायतों की संख्या पिछले साल सबसे ज्यादा रही. साल 2014 में कुल 33,906 शिकायतें प्राप्त हुई थीं. हालांकि आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने इससे पहले कहा था कि शिकायतों में बढ़ोत्तरी है.

Related Articles