100 से ज्यादा नामी ब्रांड बने ‘गारमेंट शो ऑफ इंडिया’ का हिस्सा

0

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी के प्रगति मैदान में सायना इवेंट की तरफ से गारमेंट शो ऑफ इंडिया के तीसरे संस्करण का रविवार को आगाज हुआ, जिसमें 100 से अधिक नामचीन प्रदर्शकों ने अपने नवीनतम रेंज प्रदर्शित किए। प्रदर्शनी में महिलाओं के सलवार-कुर्ती, लेगिंग, डेनिम, पुरुषों के शर्ट, टीशर्ट, ब्लेजर, सूट, जींस-पैंट, बच्चों के कपड़े, स्र्पोट्स वीयर, शेरवानी शामिल रहे।

16000 करोड़ रुपये के शेयर खरीदेगी टाटा कंसल्टिंग सर्विसेज

गारमेंट शो ऑफ इंडिया

आयोजकों की तरफ से जारी बयान के अनुसार, पहले दिन काफी संख्या में दर्शक प्रदर्शनी में पहुंचे और उन्होंने रेडीमेड परिधानों की खरीदारी की। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में वी मार्ट के सीएमडी ललित अग्रवाल, यूनिक बाजार के एमडी दिनेश हरबजंका, सिटी कार्ट के एमडी सुधांशु, पी. उदय कुमार, एचकेएल मगू उपस्थित थे।

शेयर बाज़ार में मामूली तेजी, सेंसेक्स में 22 अंक ऊपर

प्रदर्शनी के आयोजक, गगन मारवा ने कहा कि प्रदर्शनी का उद्देश्य खरीदारों और विक्रेताओं के बीच के अंतर को कम करना है। प्रदर्शनी में रिलायंस ट्रेंड्स, पतलून, वेव्ज ओवरसीज, चिराग, रॉयल वुड, पोथीज, चेन्नई सिल्क, शॉपर्स स्टॉप, वेस्टसाइड, वॉलमार्ट, लैंडमार्क ग्रुप, बाजार इंडिया, वीमार्ट, अमेजॉन, जबोंग, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, यूनिक बाजार, बिंदल ग्रुप और आदित्य बिड़ला ग्रुप जैसी प्रमुख रिटेलर्स अपनी नवीनतम रेंज के साथ उपस्थित हुए।

प्रदर्शनी की सह-आयोजक दिप्ती मारवा ने कहा, “हमारा मुख्य उद्देश्य परिधान निर्माताओं को एक प्रभावी मंच देना है, जहां वे अपनी खुदरा श्रृंखला का प्रदर्शन कर सकते हैं और प्रमुख खुदरा श्रृंखला, खुदरा विक्रेताओं, थोक विक्रेताओं, एजेंटों, वितरकों के साथ नए व्यापार टाई अप के लिए सहयोग कर सकते हैं, जो खरीदारों और विक्रेताओं दोनों के व्यापार को बढ़ाएंगे।”

उन्होने कहा कि भारत का खुदरा उद्योग कई अंतर्राष्ट्रीय श्रृंखलाओं को आकर्षित कर रहा है और भारतीय निर्माताओं के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहा है, ऐसे में यह प्रदर्शनी सभी बड़ी एवं छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों के लिए नए व्यावसायिक अवसर प्रदान करेगा।

loading...
शेयर करें