कृषि सुधार के पक्ष में तीन लाख से अधिक किसानों ने किए हस्ताक्षर

कन्फेडरेशन ऑफ एनजीओस ऑफ़ रूरल इंडिया (सीएनआरआई) का राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल बुधवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को किसानों के हस्ताक्षर-पत्र सौंपे।

नई दिल्ली: कृषि सुधार कानूनों के प्रति अपना समर्थन और विश्वास जताते हुए तीन लाख 13 हजार 363 किसानों ने हस्ताक्षर किए हैं। इसे लेकर कन्फेडरेशन ऑफ एनजीओस ऑफ़ रूरल इंडिया (सीएनआरआई) का राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल बुधवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को किसानों के हस्ताक्षर-पत्र सौंपे।

इस अवसर पर नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि देशभर में नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों में उत्साह है। लंबे समय से इन सुधारो की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दृढ़ संकल्पशक्ति का ही परिणाम है कि आज कृषि क्षेत्र में जरूरी सुधारों को हम जमीन पर उतरते देख रहे हैं।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बल देना सरकार की प्रतिबद्धता है और आने वाले कल में भी रहेगी। विगत छह वर्षों में कृषि सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किए गए हैं। पीएम किसान सम्मान निधि, आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कृषि एवं इससे जुड़े अन्य क्षेत्रों के लिए डेढ़ लाख करोड़ रूपए से ज्यादा के फंड तैयार कर रही है। 10 हजार एफपीओ बनाने की स्कीम, किसानों को मांग के अनुरूप उर्वरकों की आपूर्ति, लागत मूल्य पर कम से कम 50 प्रतिशत मुनाफा जोड़कर एमएसपी प्रदान करने जैसे कई महत्वपूर्ण उपाय किए गए है।

ये भी पढ़ें : डीटीएच सेवा में कई बदलाव, बिना सेट टॉप बॉक्स बदले बदल सकेंगे ऑपरेटर

तोमर ने कहा कि कृषि क्षेत्र में कार्य करने वाले विद्वान लगातार इन सुधारों की अनुशंसा करते रहे। इन सुधारों का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना, उन्हें खुले बाजार की स्वतंत्रता प्रदान करना, युवा पीढ़ी को कृषि के क्षेत्र में आकर्षित करना और देश की जीडीपी में कृषि का योगदान बढ़ाना रहा है।

Related Articles