लखनऊ: बच्चों के उज्जवल भविष्य में माँ की अहम भूमिका होती है : लक्ष्य

लखनऊ: लक्ष्य की टीम ने “बच्चों के उज्जवल भविष्य में माँ की भूमिका” विषय पर एक चर्चा का आयोजन लखनऊ के बक्शी का तालाब के गांव नरहरपुर में स्थित बी आर पाठशाला में किया। जिसमें पाठशाला के बच्चों व उनके माता पिता ने हिस्सा लिया।

बच्चों के उज्जवल भविष्य में माँ की अहम भूमिका होती है वैसे तो पूरे परिवार को चलाने व उसकी देखभाल करने में माता की अहम् भूमिका होती है लेकिन बच्चों के लालन पालन में उसकी ही अहम् भूमिका होती है। जैसा कहा भी जाता है कि माँ ही बच्चे की पहली शिक्षिका होती है अगर माँ अपने बच्चों का अच्छा व उज्जवल भविष्य चाहती तो बच्चों की अच्छे से देख भाल करनी होगी और ध्यान रखना होगा कि बच्चे अच्छे से शिक्षा ग्रहण करें, रोज विद्यालय जाएं क्योंकि शिक्षा ही बच्चों के जीवन में विकास की किरणे लाती है। यह बात लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने सम्बोधन में कही।

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि बेटे बेटी में भेद मत करो और बेटों के साथ साथ बेटियों को भी अच्छी से अच्छी शिक्षा दो, चाहे एक जेवर कपड़े कम पहन लो, एक रोटी कम खा लो, लेकिन अपने बच्चों को अवश्य पढ़ाओं।

इस चर्चा में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या के अलावा लक्ष्य कमांडर रश्मि गौतम, विमलेश चौधरी, रामवती, लक्ष्य युथ कमांडर ऋषभ, मनीष, सतीश, दिवाकर, शैलेन्द्र राजवंशी व पाठशाला के संचालक लक्ष्य युथ कमांडर अभिलोक गौतम ने हिस्सा लिया।

Related Articles