टूट गए रिश्तों के कच्चे धागे, मां ने बेटी का गला दबाकर कर दी हत्या…

0

अमेठी। कहते हैं कि मां मां होती है फिर चाहे वह सौतेली ही क्यों न हो। अपने बच्चे को देखकर दिल उसका भी धड़कता है। ममता उसकी भी छलकती है। लेकिन इस बार एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने मां की इस परिभाषा को मिथ्या बताया है। अमेठी के पीपरपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में एक मां ने अपनी पांच साल की मासूम सौतेली बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी और खुद को बचाने के लिए शव को घर से दूर ले जाकर झाड़ियों में फेंक दिया।

पुलिस ने शव को बरामद करते हुए पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर मां को हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि जमीन की लालच में मां ने बेटी की हत्या की।

जानकारी के मुताबिक पीपरपुर थाना क्षेत्र के छीड़ा गांव निवासी राम उदित कोरी की पहली पत्नी की मौत चार साल पहले हो गई थी। अपनी पांच साल की बेटी रोशनी के लालन-पालन के लिए तीन माह पहले उसने चार बच्चों की मां क्रान्ति से दूसरा विवाह किया। गुरुवार को राम उदित काम से बाहर गया था।

इसी बीच क्रान्ति ने घर में रोशनी की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को घर से सौ मीटर दूर झांड़ियों में फेंक दिया। देर रात जब राम उदित वापस आया तो उसे रोशनी नहीं दिखी, जिस पर उसने उसकी तलाश की। कई घंटों तक तलाश के बाद भी रोशनी के नहीं मिलने पर पिता को क्रान्ति पर शक हुआ और उसने उससे पूछा, जिसकी निशानदेही पर पिता ने शुक्रवार तड़के झाड़ियों से बेटी का शव बरामद किया।

मामले की सूचना मिलने पर सीओ अमेठी जटाशंकर, थानाध्यक्ष पीपरपुर व चौकी इंचार्ज अजय पाण्डेय पहुंचे। पुलिस की पूछताछ में क्रान्ति ने मासूम की हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस ने बताया कि मृतक बच्ची के नाम बेशकीमती जमीन थी। जिसकी लालच में सौतेली मां ने उसकी हत्या कर दी।

थानाध्यक्ष डीके सिंह ने बताया कि मृत बच्ची के पिता राम उदित की तहरीर पर क्रांति पर हत्या का केस दर्ज कर हिरासत में ले लिया गया है। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

loading...
शेयर करें