माँ ने किया बेटी के अपहरण का विरोध, दबंगों ने किया सिर धड़ से अलग

इस मामले में थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हमलावरों का रामवृक्ष के परिवार के साथ पुराना विवाद चल रहा था

सीतामढ़ी: मामला बिहार के सीतामढ़ी जिले से आ रहा है जहां बेटी के अपहरण का विरोध करना महिला को भारी पड़ गया. गांव के दबंगों ने महिला सिर तलवार से काटकर धड़ से अलग कर दिया. घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए.

गर्दन पर वार, सिर धड़ से अलग

बथनाहा थाना क्षेत्र के कोईली गोट गांव के रहने वाले रामवृक्ष ठाकुर के घर पर गांव के दबंग सुरेंद्र शर्मा ने अपने साथियों के साथ मिलकर हमला बोल दिया. दबंग उनकी बेटी को जबरदस्ती अपने साथ ले जाने लगे. तभी रामवृक्ष की पत्नी प्रेमा ने ये नजारा देखा, तो वे सुरेंद्र शर्मा और उसके साथियों का विरोध करने लगीं. अपनी बेटी को बचाने के लिए प्रेमा बदमाशों से लड़ने लगी. जिसके बाद उन लोगों ने तलवार से प्रेमा की गर्दन पर वार कर दिया जिस वजह से सिर धड़ से अलग हो गया.

बाद में आरोपी मौके से फरार हो गए. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंची. पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के साथ-साथ मामले की छानबीन में जुट गयी. मृतका की बेटी काजल ने पुलिस को बताया कि गांव के दबंग सुरेन्द्र शर्मा, रामू, शत्रुघ्न शर्मा, राघवेंद्र कुमार, किशन कुमार और कपिलेश्वर शर्मा काले रंग की दो बाइक पर सवार होकर उसके घर आए थे. आरोपी ने उसे जबरदस्ती अपने साथ ले जा रहे थे. मां ने विरोध किया, तो आरोपियों ने तलवार से मां का गला काट दिया.

इस मामले में थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हमलावरों का रामवृक्ष के परिवार के साथ पुराना विवाद चल रहा था. इतना ही नहीं प्रेमा देवी के बयानों के आधार पर इन अपराधियों के खिलाफ थाने में दो FIR भी दर्ज हैं. इन दोनों मुकदमों में आरोपियों द्वारा सुलह कराने का दबाव भी बनाया जाता रहा है.

यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर में उत्साह के साथ मनाई गई ईदे मिलाद उल-नबी

Related Articles

Back to top button