ऐसी नहीं हो सकती मां 

 कौशाम्बी।

अपनी खुशी के लिए मां ने खत्म कर दी बच्चे की जिंदगी। इस कलयुगी माँ ने अपने जिगर के टुकड़े को इस लिए  मौत की नींद सुला दे दी, ताकि वो अपने प्रेमी के साथ बाकी की जिंदगी गुजार सके। यह बातें तब सामने आयी जब अधिकारियों के दखल के बाद पुलिस ने बारीकी से तफ्तीश करते हुए जाँच आख्या अधिकारी को सौंपी। फिर भी पुलिस ने अभी दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं की है। पीडि़त ने आईजी से मिलकर न्याय की गुहार लगायी।
परिवार को फंसाने की साजिश असफल
कोखराज थाना इलाके के टेढीमोड़ गांव में  3 साल के मासूम शुभम को उस की माँ सुमन ( नाम पता काल्पनिक ) ने इसलिए जहर देकर  मौत की नींद सुला दिया ताकि वो इस हत्या के आरोप में पति समेत परिवार वालों को फंसा कर अपने प्रेमी के साथ बाकी की जिंदगी आराम से काट सके। लेकिन कलयुगी माँ अपने मकसद में पूरी तरह नाकाम रही। जब मृतक मासूम के पिता की तहरीर के बाद पुलिस अधिकारियों ने मामले की जाँच शाहजतपुर चौकी प्रभारी को सौपी दी थी। दारोगा ने बारीकी से तफ्तीस करते हुए अपनी जाँच आख्या अधिकारी को सौंपी तो यह मामला प्रकाश में आया। जिसमें यह जाहिर हो गया है की माँ ने  प्रेमी को पाने की चाह में अपने ही कलेजे के टुकड़े को जहर दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button